क्रिकेट मैदान पर धक्का-मुक्की

  • 17 दिसंबर 2009

वेस्टइंडीज़ के स्पिनर बेन सुलेमान के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया के मिचेल जॉनसन और ब्रैड हैडिन के ख़िलाफ़ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) कार्रवाई कर सकता है.

वजह है पर्थ टेस्ट के दूसरे दिन बेन और दोनों ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के बीच कहा-सुनी जो धक्का-मुक्की तक पहुँच गई.

ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज़ के बीच तीसरा टेस्ट मैच पर्थ में 16 दिसंबर से शुरू हुआ है. टेस्ट के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलियाई पारी के 118वें ओवर में ये भिड़ंत हुई.

सुलेमान बेन की गेंद पर मिचेल जॉनसन ने एक रन लेने की कोशिश की, जबकि गेंद फ़ील्ड करने की कोशिश में सुलेमान बेन ब्रैड हैडिन से टकरा गए.

बीच-बचाव

इसी बात पर दोनों में कहा-सुनी हुई और बात ग़ाली-गलौज तक जा पहुँची. कप्तान क्रिस गेल और अंपायर बिली बॉवडन ने बीच-बचाव किया.

लेकिन उसी ओवर में ब्रैड हैडिन और सुलेमान बेन में फिर कहा-सुनी हुई और बीच में खड़े मिचेल जॉनसन के हेलमेट से उनकी कोहनी टकरा गई, इस पर जॉनसन ने बेन को धक्का दे दिया.

अंपायर बिली बॉवडन को एक बार फिर बीच-बचाव में आना पड़ा. दिन का खेल ख़त्म होने के बाद वेस्टइंडीज़ के स्पिनर बेन सुलेमान के ख़िलाफ़ आईसीसी की आचार संहिता के लेवल-2 के तहत आरोप लगाया गया है जबकि ब्रैड हैडिन और मिचेल जॉनसन के ख़िलाफ़ लेवल-1 के तहत आरोप लगाया गया है.

आरोप साबित हुआ तो सुलेमान पर पाबंदी लग सकती है और दोनों ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों पर जुर्माना लगाया जा सकता है.

संबंधित समाचार