नागपुर में श्रीलंका की जीत

दिलशान

तिलकरत्ने दिलशान ने एक बार फिर अपने बल्ले का जौहर दिखाया, एक बार फिर मुक़ाबला रोमांचक हुआ, एक बार फिर आख़िर में श्रीलंका की टीम दबाव में आई, लेकिन इस बार श्रीलंका की टीम चूकी नहीं.

राजकोट वनडे में मिली तीन रनों की हार से मिली निराशा को पीछे छोड़ते हुए नागपुर में हुए दूसरे एक दिवसीय मैच में श्रीलंका ने भारत को तीन विकेट से हराकर पाँच एक दिवसीय मैचों की सिरीज़ को 1-1 से बराबर कर दिया है.

भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना की अच्छी बल्लेबाज़ी की बदौलत 301 रनों का स्कोर खड़ा किया.

लेकिन एक बार फिर तिलकरत्ने दिलशान भारत के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द साबित हुए. उन्होंने न सिर्फ़ शतक लगाया बल्कि रन गति भी इतनी रखी, जिससे आगे के बल्लेबाज़ों को समस्या न हो.

दिलशान ने 113 गेंद पर 123 रन बनाए, जिसमें 12 चौके और दो छक्के शामिल थे. आख़िर में एंजेलो मैथ्यूज़ ने 37 रनों की तबाड़तोड़ पारी खेलकर जीत में अहम भूमिका निभाई.

महेला जयवर्धने ने 39 और थरंगा ने 37 रन बनाए. इस बार कप्तान संगकारा सिर्फ़ 21 रन ही बना पाए. श्रीलंका ने जीत के लिए आवश्यक रन सात विकेट के नुक़सान पर हासिल कर लिया.

भारतीय पारी

इससे पहले भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की शतकीय पारी और सुरेश रैना के साथ उनकी साझेदारी की बदौलत 50 ओवर में सात विकेट पर 301 रन बनाए.

Image caption धोनी ने शतकीय पारी खेली

धोनी ने 107 और रैना ने 68 रन बनाए. इन दोनों के अलावा विराट कोहली ने 54 और सचिन तेंदुलकर ने 43 रनों का योगदान दिया.

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फ़ैसला किया. लेकिन पहले वनडे के हीरो वीरेंदर सहवाग इस बार नहीं चले और सिर्फ़ चार रन बनाकर पवेलियन लौट गए.

भारत ने अपने दो विकेट सिर्फ़ 19 रन पर गँवा दिए. सहवाग के बाद गौतम गंभीर भी दो रन ही बना पाए. वे दुर्भाग्यशाली रहे और रन आउट हुए.

विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर के बीच अच्छी साझेदारी हुई और 62 रन बने. सचिन तेंदुलकर अच्छी पारी खेल रहे थे.

Image caption सुरेश रैना ने धोनी के साथ अच्छी साझेदारी की

लेकिन अजंता मेंडिस की गेंद पर संगकारा ने उन्हें स्टम्प आउट कर दिया. सचिन ने 43 रन बनाए. विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी ने संभलकर खेलते हुए रन बनाना शुरू किया.

विराट कोहली ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया. लेकिन जल्द ही वे आउट हो गए. उन्होंने 54 रन बनाए.

सबसे अच्छी साझेदारी हुई कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना के बीच. दोनों ने शानदार बल्लेबाज़ी की और पाँचवें विकेट के लिए 126 रन जोड़े.

धोनी ने वनडे मैचों में अपना छठा शतक लगाया. जबकि सुरेश रैना ने 68 रन बनाए.

संबंधित समाचार