आईसीसी लंबी पाबंदी के पक्ष में नहीं

डेविड मॉर्गन
Image caption डेविड मॉर्गन ने कहा कि अंतिम फ़ैसला विशेषज्ञ समिति करेगी

दिल्ली क्रिकेट एसोसिएशन के आकाओं और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के लिए ये बड़ी राहत की ख़बर मानी जा सकती है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के अध्यक्ष डेविड मॉर्गन ने कहा है कि वे दिल्ली के फ़िरोज़शाह कोटला स्टेडियम पर बड़ी पाबंदी के पक्ष में नहीं हैं.

पिछले दिनों भारत और श्रीलंका के बीच एक दिवसीय मैच के दौरान कोटला की पिच में इतनी असमान उछाल देखी गई कि मैच को रद्द करना पड़ा.

इस मामले पर आईसीसी ने अभी कोई फ़ैसला नहीं किया है. इस मामले को देख रही आईसीसी की एक विशेषज्ञ समिति कोटला के भविष्य पर फ़ैसला करेगी.

फ़ैसला

लेकिन इस बीच एक निजी टीवी चैनल से बातचीत में आईसीसी अध्यक्ष डेविड मॉर्गन ने कहा कि अगले साल भारतीय उप महाद्वीप में विश्व कप क्रिकेट का आयोजन होना है.

उन्होंने कहा कि कोटला के ऐतिहासिक मैदान पर मैच के बिना विश्व कप अच्छा नहीं लगेगा.

डेविड मॉर्गन ने कहा, "मैं पूरे भरोसे के साथ ये नहीं कह सकता कि कोटला के पिच पर पाबंदी उचित होगा. हम ये नहीं चाहते कि नई दिल्ली जैसे प्रमुख शहर की पिच पर लंबे समय तक प्रतिबंध लगाया जाए."

हालाँकि उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया कि इस मामले में आख़िरी फ़ैसला आईसीसी की विशेषज्ञ समिति ही करेगी.

आईसीसी ने कोटला मामले पर बीसीसीआई को नोटिस जारी किया है और बीसीसीआई को 14 दिनों के अंदर जवाब देना है.

27 दिसंबर को भारत और श्रीलंका का मैच 23.3 ओवर के बाद रोकना पड़ा और फिर मैच रेफ़री एलेन हर्स्ट ने इस मैच को रद्द कर दिया.

संबंधित समाचार