भारत की निगाह फ़ाइनल पर

  • 10 जनवरी 2010
भारतीय टीम
Image caption भारतीय टीम फ़ाइनल में जगह बनाने की कोशिश में है

बांग्लादेश में चल रही त्रिकोणीय एकदिवसीय क्रिकेट श्रृंखला में रविवार को भारत का मुकाबला श्रीलंका से होगा.

श्रीलंका की टीम इस प्रतियोगिता में अपने तीनों मैच जीत कर पहले ही फ़ाइनल में जगह बना चुकी है जबकि भारत रविवार को दोपहर दो बजे शुरू होने वाले इस मैच को जीत कर फ़ाइनल में जगह बनाने की कोशिश करेगा.

भारत ने अब तक खेले गए दो मैचों में से एक में जीत दर्ज की है जबकि श्रीलंका के खिलाफ हुए मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा था.

श्रीलंका ने इसी प्रतियोगिता के एक मैच में भारत को पांच विकेट से हराया था और भारतीय खिलाड़ी रविवार को होने वले इस मैच में उस हार का बदला लेने की कोशिश करेंगे.

सधी गेंदबाजी की ज़रुरत

भारतीय टीम को आज का मैच जीतने के लिए सधी हुई गेंदबाजी की ज़रुरत पड़ेगी. त्रिकोणीय श्रंखला में अब तक भारतीय खेमे के लिए गेंदबाजों की खराब लय चिंता का विषय रही है जबकि दूसरी ओर श्रीलंका के बल्लेबाज़ अच्छे फार्म में चल रहे हैं.

तेज़ गेंदबाज़ ज़हीर खान, आशीश नेहरा और श्रीसंत को को सही लाइन-लेंग्थ से गेंदबाजी करनी होगी ताकि श्रीलंका के बल्लेबाजों को तेज़ गति से रन बनाने से रोका जा सके.

हरभजन सिंह को भी इस अहम मैच में अपनी गेंदबाजी का प्रभाव छोड़ना पड़ेगा जिससे श्रीलंका की मध्य क्रम की बल्लेबाजी को काबू में रखा जा सके. दूसरी ओर भारतीय बल्लेबाज़ी टीम प्रबंधन के लिए उतनी चिंता का विषय नहीं रहेगी क्योंकि भारतीय बल्लेबाज़ अभी तक ठीक ठाक प्रदर्शन करते रहे हैं.

बढ़ा आत्मविश्वास

मौजूदा सिरीज़ में जीत की हैट ट्रिक बनाने वाली श्रीलंकाई टीम का मनोबल सातवें आसमान पर होगा और कप्तान कुमार संगकारा की प्राथमिकता यही रहेगी कि जीत के इस अभियान को जारी रखा जाए.

रविवार को भारत के खिलाफ होने वले इस महत्त्वपूर्ण मैच के पहले श्रीलंका के ओपनर तिलकरत्ने दिलशान को फिट घोषित कर दिया गया है. दिलशान चोट के चलते पिछले दो मैचों में नहीं खेल सके थे.

श्रीलंका टीम के बढ़े हुए आत्मविश्वास की एक वजह ये भी है कि पूर्व कप्तान महेला जयवर्धेने, उपुल थरंगा और समरवीरा भी अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार