हॉकी इंडिया के अध्यक्ष का इस्तीफ़ा

  • 17 जनवरी 2010
Image caption कई हॉकी खिलाड़ियों ने मट्टू की आलोचना की थी.

पिछले कुछ हफ़्तों से विवादों में घिरे हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ए के मट्टू ने अध्यक्ष पद और दूसरे प्रशासनिक पदों से भी इस्तीफ़ा दे दिया है.

पिछले दिनों भारतीय हॉकी टीम के कई खिलाड़ियों ने वेतन और भत्तों के मामले पर विश्व कप के अभ्यास शिविरों का बहिष्कार कर दिया था और ए के मट्टू को कई पूर्व खिलाड़ियों और खेल जगत से जुड़े लोगों की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था.

मट्टू ने अब अपना इस्तीफ़ा भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी को भेज दिया है और साथ खेल से जुड़े सभी प्रशासनिक पदों को छोड़ने का भी मन बना लिया है.

उनका कहना था,``मैंने अपना इस्तीफ़ा कलमाड़ी को सौंप दिया है और मैं खेल प्रशासन के दूसरे पदों से भी रिटायरमेंट लेना चाहता हूं. मैंने चालीस साल तक सेवा की है और ये काफ़ी लंबी और फलदायक पारी रही है.’’

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष के साथ साथ मट्टू भारतीय ओलंपिक संघ के कोषाध्यक्ष हैं और 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों की आयोजन समिति के भी सदस्य हैं.

ये पूछे जाने पर कि क्या कलमाड़ी के कहने पर वो अपना फ़ैसला बदल भी सकते हैं, मट्टू का कहना था, ``नहीं. मैने अपना मन बना लिया है.’’

मट्टू का कहना था कि वो हॉकी खिलाड़ियों और दूसरे अधिकारियों की तरफ़ से लगाए गए आरोपों से आहत हुए हैं और जिस तरह से उस पूरे विवाद को उछाला गया उससे उन्हें काफ़ी दुख हुआ है.

संबंधित समाचार