मिडलसेक्स की युवराज से बातचीत

युवराज सिंह
Image caption युवराज सिंह ने पहले टी-20 विश्व कप में एक ओवर में छह छक्के मारे थे

ब्रिटेन का क्रिकेट क्लब मिडलसेक्स घरेलू ट्वेन्टी-20 कप के लिए दूसरे विदेशी खिलाड़ी के तौर पर युवराज सिंह से बात कर रहा है.

मिडलसेक्स के क्रिकेट निदेशक ऐंगस फ़्रेज़र ने बीबीसी हिंदी को बताया, "हम युवराज से बात कर रहे हैं. अनुबंध पर अभी तक हस्ताक्षर नहीं हुए हैं मगर बातचीत सकारात्मक रही है."

इससे पहले सचिन तेंदुलकर को टीम में शामिल करने की कोशिश मिडलसेक्स ने की थी मगर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर ज़्यादा ध्यान देने की बात कहते हुए तेंदुलकर ने ट्वेन्टी-20 कप में खेलने पर असमर्थता जताई थी.

एक टीम दो विदेशी खिलाड़ियों को टीम में शामिल कर सकती है और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट पहले ही मिडलसेक्स टीम में शामिल होने के लिए हाँ कर चुके हैं.

युवराज सिंह ने दक्षिण अफ़्रीका में हुए पहले ट्वेन्टी-20 क्रिकेट विश्व कप के दौरान इंग्लैंड के गेंदबाज़ स्टुअर्ट ब्रॉड के ओवर की सभी छह गेंदों पर छक्के मारे थे. उसी समय से वह ट्वेन्टी-20 के दुनिया के विस्फोटक बल्लेबाज़ों में गिने जाते हैं.

बीसीसीआई की मंज़ूरी

मगर युवराज को टीम में शामिल करने से पहले ये देखना होगा कि युवराज को भारतीय टीम के साथ कब-कब खेलना है.

फ़्रेज़र ने कहा, "युवराज का मिडलसेक्स के साथ खेलना इस बात पर भी निर्भर होगा कि जून में प्रस्तावित एशिया कप टूर्नामेंट होता है या नहीं और उसके अलावा युवराज कितना क्रिकेट खेल रहे हैं."

इसके अलावा मिडलसेक्स को युवराज को टीम में शामिल करने से पहले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई से भी संपर्क करके अनापत्ति प्रमाण पत्र या 'नो ऑब्जेक्शन सर्टिफ़िकेट' लेना होगा क्योंकि युवराज बीसीसीआई के केंद्रीय अनुबंध वाले खिलाड़ी हैं.

उसके बाद ही युवराज मिडलसेक्स के साथ खेल सकेंगे.

बीसीसीआई की ओर से किसी संभावित मुश्किल के बारे में पूछे जाने पर फ़्रेज़र ने कहा कि अभी तो युवराज के साथ ही अनुबंध पर हस्ताक्षर नहीं हुए हैं. वो हो जाने के बाद जब अगले पड़ाव पर पहुँचेंगे तो उसके बारे में सोचेंगे.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है