ब्रेट ली ने टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहा

  • 24 फरवरी 2010
ब्रेट ली
Image caption ली चोट की समस्या से जूझते रहे हैं.

ऑस्ट्रेलियाई तेज़ गेंदबाज़ ब्रेट ली ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. वनडे और टी-ट्वेंटी में वो खेलते रहेंगे.

तैंतीस वर्षीय ब्रेट ली ने बुधवार को टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की. पिछले कुछ समय में चोटिल हो जाने के कारण कई बार उन्हें टीम से बाहर होना पड़ा है.

कभी अपनी तेज़ गेंदों से क़हर बरपाने वाले ब्रेट ली ने कहा, “मेरे लिए टेस्ट क्रिकेट और अपने देश का बैगी ग्रीन कैप पहनना ही पहली पसंद रहा है. लेकिन अगर मुझे अगले कुछ साल और मैदान पर उतरना है तो कुछ क़ुर्बानी देनी ही होगी.”

वर्ष 1999 में अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले ब्रेट ली ने अपने करियर में खेले 76 टेस्ट मैचों में 310 विकेट लिए हैं.

आईपीएल के लिए उत्सुक

अपने देश की ओर से सबसे ज़्यादा टेस्ट विकेट लेने के मामले में वे शेन वॉर्न, ग्लेन मैकग्रा और डेनिस लिली के बाद चौथे स्थान पर हैं.

आख़िरी टेस्ट उन्होंने वर्ष दिसंबर 2008 में मेलबॉर्न में खेला था. लेकिन दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ उस टेस्ट मैच के दौरान उन्हें पैर में चोट लग गई थी.

तब से वह टखने की चोट और पीठ की मांसपेशियों में तनाव की समस्या से जूझते रहे.

ब्रेट ली का कहना है, “ये अचानक लिया गया फ़ैसला नहीं है. पिछले कई दिनों से मैं इसके बारे में सोच रहा था.”

उन्होंने कहा कि वह आईपीएल में खेलने के लिए उत्सुक हैं लेकिन इसके लिए सुरक्षा मंज़ूरी का इंतज़ार है.

संबंधित समाचार