हॉकी खिलाड़ियों की कड़ी सुरक्षा

  • 28 फरवरी 2010
हॉकी

दिल्ली में रविवार को शुरू हो रहे हॉकी वर्ल्ड कप को देखते हुए कड़े सुरक्षा इंतज़ाम किए गए हैं.

हाल ही में पुणे में एक बम धमाका हो चुका है जिसमें 15 लोग मारे गए थे.

भारत में इस वर्ष तीन बड़े खेल आयोजन होने हैं जिनमें विदेशी खिलाड़ी भी हिस्सा लेंगे. हॉकी वर्ल्ड कप ख़त्म होने के बाद आईपीएल के मैच और फिर अक्तूबर में कॉमनवेल्थ गेम्स.

इस तरह की ख़बरें हैं कि कथित रूप से अलक़ायदा से संबंध रखने वाले कुछ चरमपंथी गुट इन खेल आयोजनों के निशाना बनाने के बारे में सोच सकते हैं.

इस तरह की आशंका थी कि शायद कुछ विदेशी हॉकी खिलाड़ी भारत आने से गुरेज़ करें. लेकिन ऐसा नहीं हूआ और उनमें से अधिकतर ही दिल्ली आए.

साइमन नहीं आए

न्यूज़ीलैंड के खिलाड़ी साइमन चाइल्ड ही एक ऐसे प्रमुख खिलाड़ी हैं जिन्होंने न आने का फ़ैसला किया.

दिल्ली पहुँची सभी 12 टीमों को उनकी सुरक्षा के प्रति पूरी तरह आश्वस्त किया गया है. उन्हें स्टेडियम लाने-ले जाने के लिए सशस्त्र प्रहरियों का इंतज़ाम किया गया है.

दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बल स्टेडियम के भीतर उनकी सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं.

दर्शकों को खेल शुरू होने के समय तक स्टेडियम में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा.

लेकिन पहले दिन तनाव अपनी चरमसीमा पर है जब प्रतिद्वंद्वी भारत और पाकिस्तान की टीमें आमने सामने होंगी.

संबंधित समाचार