समर्थन से ख़ुश हैं पाकिस्तानी खिलाड़ी

भारत और पाकिस्तान के झंडों के साथ भारतीय दर्शक
Image caption पाकिस्तान को हॉकी विश्व कप में दर्शकों का अच्छा समर्थन मिल रहा है

हॉकी विश्व कप में भारत के विरुद्ध मैच में दर्शकों की ज़बरदस्त नारेबाज़ी और शोरगुल का सामना कर चुकी पाकिस्तान टीम को अब दर्शकों का उम्मीद से भी ज़्यादा समर्थन मिल रहा है.

स्पेन और इंग्लैंड के विरुद्ध हुए मैचों में भारतीय दर्शकों से मिले समर्थन के बारे में पाकिस्तानी गोलकीपर सलमान अकबर ने बीबीसी को बताया, "मैं तो ऐसे समर्थन की, इतनी बड़ी संख्या में लोगों की उम्मीद नहीं कर रहा था."

अकबर ने कहा, "हम ये समर्थन पाकर बहुत ख़ुश हैं और मेरे ख़्याल में टीम का कोई भी खिलाड़ी ये उम्मीद नहीं कर रहा था कि भारत में लोगों की ओर से इस तरह का समर्थन मिलेगा."

इसके अलावा पाकिस्तानी टीम सिर्फ़ समर्थन ही नहीं बल्कि टीमों को दिल्ली में दी गई सुरक्षा से भी ख़ुश है.

पाकिस्तान टीम के मैनेजर मोहम्मद आसिफ़ बाजवा इस बारे में कहते हैं, "सुरक्षा पूरी तरह पुख़्ता है और बिल्कुल सही है, उसमें किसी तरह का मसला नहीं है."

स्पेन और इंग्लैंड के विरुद्ध मैचों में जब-जब पाकिस्तानी खिलाड़ी गोल के नज़दीक़ पहुँचे हैं मेजर ध्यानचंद राष्ट्रीय स्टेडियम में मौजूद दर्शकों ने उनका उसी तरह उत्साह बढ़ाया है जैसे वो भारत का बढ़ाते हैं.

इतना ही नहीं दर्शकों को इंग्लैंड के विरुद्ध मैच में जब अंपायर का एक फ़ैसला पसंद नहीं आया तो दर्शक स्टेडियम में 'चीटर-चीटर' यानी बेईमान-बेईमान जैसे नारे भी लगाने लगे.

'भारत को भी देंगे समर्थन'

पाकिस्तान के पेनल्टी कॉर्नर विशेषज्ञ सुहैल अब्बास के मुताबिक़ इस तरह के समर्थन के बाद तो पता ही नहीं चलता कि वो भारत में खेल रहे हैं या पाकिस्तान में.

Image caption भारत के विरुद्ध मैच में पाकिस्तान को दर्शकों से कोई समर्थन नहीं मिला था

अब्बास का कहना था, "दर्शकों का बहुत ही समर्थन मिला है. जब हम स्पेन के ख़िलाफ़ खेल रहे थे तो लग रहा था जैसे हम पाकिस्तान में ही कराची या लाहौर में कहीं खेल रहे हैं."

अब्बास के मुताबिक़ लोग इतना समर्थन दे रहे हैं उससे सारी टीम बेहद ख़ुश है और वो तो भारत के विरुद्ध मैच में नहीं मिले समर्थन को भी ठीक ही ठहराते हैं.

वह कहते हैं, "निश्चित तौर पर जब भारत खेल रहा होगा तो भारत में लोग भारत को ही समर्थन देंगे, हमें तो नहीं देंगे."

पाकिस्तान टीम के मैनेजर बाजवा तो इस समर्थन से इतने ख़ुश हैं कि वह कहते हैं कि इसके बाद भारत की टीम जब भी पाकिस्तान आएगी तो उस टीम का भी इसी तरह स्वागत किया जाएगा.

संबंधित समाचार