किन खिलाड़ियों पर क्या-क्या आरोप

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच अनुशासनहीनता के आरोप में मोहम्मद यूसुफ़ और यूनुस ख़ान पर अनिश्चितकाल के लिए प्रतिबंध लगा दिया है जबकि कप्तान शोएब मलिक और राणा नवेदुल हसन पर एक-एक साल के लिए राष्ट्रीय टीम में शामिल किए जाने पर पांबदी लगा दी है.

शाहिद आफ़रीदी और अकमल भाइयों पर भारी जुर्माना लगाया है.

आरोपों का विवरण:-

मोहम्मद यूसुफ़

पाकिस्तान टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे में हुई हार के बाद गठित समिति की सिफ़ारश के अनुसार मोहम्मद यूसुफ़ और यूनुस ख़ान के आपसी झगड़ों के कारण पूरी टीम का प्रदर्शन प्रभावित हुआ. इसलिए बोर्ड ने मोहम्मद यूसुफ़ पर अनिश्चित समय के लिए राष्ट्रीय टीम के लिए क्रिकेट खेलने पर प्रतिबंध लगा दिया है.

यूनुस ख़ान

यूनुस ख़ान पर ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान मोहम्मद यूसुफ़ के साथ तालमेल नहीं बैठान पाने और झगड़ा करने का आरोप है. जांच समिति का कहना है कि इस झगड़े की वजह से टीम का प्रदर्शन ख़राब हुआ. इसलिए बोर्ड ने यूनुस ख़ान के खेलने पर पाबंदी लगा दी है. ये प्रतिबंधन उनपर अनिश्चित समय के लिए लगाया गया है.

शोएब मलिक

शोएब मलिक पर एक साल का प्रतिबंध लगाया गया है. इस दौरान वो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम का हि्स्सा नहीं बन सकते हैं. हालांकि उनके ऊपर लगे आरोप की जानकारी नहीं दी गई है. उनपर 20 लाख रुपए का जुर्माना भी किया गया है.

राणा नवेदुल हसन

राणा नवेदुल हसन पर भी एक साल का प्रतिबंध लगाया गया है. इस बीच वो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम का हि्स्सा नहीं बन सकते हैं. हालांकि उनके भी ऊपर लगे आरोपों की जानकारी नहीं दी गई है. उनपर 20 लाख रुपए का जुर्माना किया गया है.

शाहिद आफ़रीदी

शाहिद आफ़रीदी पर गेंद के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगया गया है. बोर्ड ने उनकी इस हरकत को शर्मनाक क़रार दिया और कहा कि शाहिद ने ऐसा करके क्रिकेट के खेल को बदनाम किया है. इस आरोप की बुनियाद पर उनपर 30 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है. बोर्ड ने उन्हें चेतावनी दी है और कहा कि अगले छह महिनों तक उनके आचरण पर कड़ी नज़र रखी जाएगी.

उमर अकमल

उमर अकमल पर 20 लाख रुपए का जुर्माना किया गया है. बोर्ड की ओर से चेतावनी दी गई है कि अगले छह महीने उनके आचरण पर नज़र रखी जाएगी.

कामरान अकमल

कामरान अकमल पर 30 लाख रुपए का जुर्माना किया गया और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की ओर से चेतावनी दी गई है कि अगल छह महीने उनके आचरण पर नज़र रखी जाएगी.

संबंधित समाचार