कोई नई टीम विश्व कप जीतेगी:वार्न

शेन वार्न
Image caption शेन वार्न ऑस्ट्रेलिया की ओर से सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी हैं

दुनिया के महानतम स्पिनरों में शुमार होने वाले शेन वार्न इंडियन प्रीमियर लीग में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान और कोच के तौर पर अपने अनुभव को यादगार मानते हैं.

उनका कहना है कि आईपीएल के तीसरे सीज़न में अनुभव की कमी के कारण उनकी टीम को कामयाबी नहीं मिल सकी. लेकिन आईपीएल का अनुभव शानदार रहा.

वे पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाज वसीम अकरम के इस आरोप को सिरे से ख़ारिज करते हैं कि आईपीएल मैचों में कुछ खिलाड़ी गेंदों से छेड़छाड़ यानी बॉल टेंपरिंग में शामिल हैं.

वार्न ने आईपीएल के अगले सीज़न में खेलने के बारे में अब तक कोई फ़ैसला नहीं किया है. वे कहते हैं कि अब उम्र हावी होने लगी है. अगले साल के बारे में फिलहाल कुछ कहना मुश्किल है.

ईडेन गार्डेन में कोलकाता नाइट राइडर्स के हाथों हार के साथ ही सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर होने के बाद वार्न ने पीएम तिवारी के कुछ सवालों के जवाब दिए. पेश है इस बातचीत के ख़ास अंशः

इस हार के साथ ही आईपीएल के तीसरे सीज़न में राजस्थान रॉयल्स का अभियान खत्म हो गया है. टीम के ऐसे प्रदर्शन की क्या वजह रही?

सबसे बड़ी वजह थी अनुभव की कमी. नाज़ुक मौक़ों पर अनुभव की कमी हमारी जीत के आड़े आ गई. शुरूआती हार के बाद हमने लगातार छह मैच जीते. लेकिन उसके बाद तीन निर्णायक मैच हार कर हम बाहर हो गए. बतौर कोच और कप्तान मैं इस प्रदर्शन की पूरी ज़िम्मेवारी लेता हूं.

आईपीएल में खेलने का अनुभव कैसा रहा?

बहुत शानदार. पहले सीजन में युवा और अनुभवहीन खिलाड़ियों को लेकर टीम भावना से खेलते हुए हम चैंपियन बने थे. लेकिन उसके बाद दूसरे सीज़न में हम उम्मीदों के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके. इस सीज़न में हमें अनुभवहीनता का ख़मियाज़ा भुगतना पड़ा. इन तीन वर्षों में हमने दूसरी टीमों के मुक़ाबले ज़्यादा मैच जीते हैं.

Image caption शेन वार्न ने आईपीएल के पहले सीज़न में राजस्थान रॉयल्स को चैंपियन बना दिया था

अगले साल फिर लौटेंगे आईपीएल में?

लौटना तो चाहता हूं. लेकिन इसकी उम्मीद 50 फ़ीसदी ही है. अब उम्र हो रही है. इस सीज़न में भी पहले दो-तीन मैचों में मेरी गेंदबाजी में पहले जैसी लय नहीं थी. एक कप्तान के तौर पर मैं कामयाब हूँ और गेंदबाज़ी भी ठीक-ठाक कर रहा हूं. लेकिन अगले साल खेलना कई चीज़ों पर निर्भर है.

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर वसीम अकरम, जो कोलकाता नाइट राइडर्स के गेंदबाज़ी सलाहकार भी हैं, उन्होंने आईपीएल में गेंदों से छोड़छाड़ का आरोप लगाया है. आपकी नज़र में इस आरोप में कितना दम है?

देखिए, मैंने ऐसा कुछ नहीं सुना है. मैं पहली बार यह सुन रहा हूँ. वसीम ज़्यादा एक्सपर्ट हैं ऐसे मामलों में. शायद वे ही इस मामले में कोई सहायता कर सकते हैं.

आईपीएल के दौरान आपने देश के विभिन्न शहरों में मैच खेले, इतनी जगहों पर खेलने का अनुभव कैसा रहा?

बहुत बढ़िया. पहले आस्ट्रेलियाई टीम के साथ भारत दौरे पर आता था. लेकिन अपने तीसरे दौरे में ही मैं इस देश की विविधता को समझ सका. शुरूआती दौर में मुझे स्थानीय परिस्थितियों और गर्मी से जूझना पड़ता है. लेकिन दुनिया के किसी भी देश में इतनी ज़्यादा तादाद में क्रिकेटप्रेमी नहीं हैं. विभिन्न संस्कृति और पृष्ठभमि वाले खिलाड़ियों को एक टीम के तौर पर तैयार करना एक चुनौती है. आईपीएल ने मुझे कई नए दोस्त दिए हैं.

आईपीएल में चोटिल कुछ खिलाड़ी टी-20 विश्वकप में नहीं खेल सकेंगे. क्या विश्वकप से पहले आईपीएल का आयोजन उचित है?

चोट तो खेल-जीवन का हिस्सा है. आईपीएल में खेलने वाले ज़्यादातर खिलाड़ी पेशेवर हैं. चोटें तो लगती रहती हैं. इसके लिए आईपीएल को ज़िम्मेवार ठहराना सही नहीं है.

इस महीने के आख़िर में वेस्ट इंडीज में टी-20 विश्व चैंपियनशिप शुरू हो रही है. इसमें अबकी बाज़ी किसके हाथ रहने का अनुमान है?

टी-20 मैचों के बारे में कुछ कहना मुश्किल है. एक बल्लेबाज़ या देंगबाज का शानदार प्रदर्शन भी मैच का रुख़ बदल कता है. पहले संस्करण में भारत ने यह चैंपियनशिप जीती थी तो दूसरे में पाकिस्तान ने. तमाम प्रतिभावान खिलाड़ियों के बावजूद आस्ट्रेलिया अब तक ऐसा नहीं कर सका है. दावेदार तो कई हैं लेकिन मुझे लगता है कि इस बार भी कोई नई टीम ही चैंपियन बनेगी.

संबंधित समाचार