चेन्नई बनी आईपीएल की सुपरकिंग

आईपीएल-3 के फ़ाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्स ने मुंबई इंडियंस को 22 रन से हरा दिया है. चेन्नई के 168 के जवाब में मुंबई 146 ही बना पाई.

ये मुक़ाबला भारत के दो श्रेष्ठ खिलाड़ियों चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और मुंबई इंडियंस के कप्तान सचिन तेंदुलकर के बीच भी था. लेकिन मुक़ाबले में धोनी सचिन पर भारी पड़े.

चेन्नई की जीत में सुरेश रैना ने बड़ी भूमिका निभाई. उन्होंने न केवल 57 रन बनाए और 21 रन देकर एक विकेट भी लिया. उन्हें मैन ऑफ़ द मैच करार दिया गया.

इसके पहले टॉस महेंद्र सिंह धोनी ने जीता और पहले बल्लेबाज़ी का फ़ैसला किया.

चेन्नई ने 168 रन बनाए, इसके जवाब में मुंबई इंडियंस की शुरुआत अच्छी नहीं रही.

मुंबई के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए.

उसके बाद अभिषेक नायर ने सचिन के साथ मिलकर पारी को संभाला लेकिन रन आउट हो गए.

हरभजन को ऊपर बल्लेबाज़ी के लिए भेजा गया लेकिन वो भी रैना के गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए.

सचिन ने कुछ शानदार शॉट लगाकर मैच को रोमांचक बनाया, लेकिन 48 रन बनाकर कैच आउट हो गए. सौरव तिवारी, डुमनी भी कुछ खास नहीं कर पाए.

हालांकि पोलार्ड ने आते ही कुछ बड़े शॉट लगाए लेकिन वो मोर्केल की गेंद पर हेडन के हाथों कैच आउट हो गए.

इसी के साथ मुंबई की जीत की सभी उम्मीदें पूरी तरह से खत्म हो गईं.

चेन्नई की पारी

इससे पहले सुरेश रैना और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 35 गेंदों पर 72 रन की साझेदारी कर चेन्नई को 168 रन का मजबूत स्कोर प्रदान किया.

Image caption सचिन चोट के बावजूद इस मैच में खेले

धोनी 24 रन बनाकर आउट हुए और सुरेश रैना ने 57 रन बनाए. इस दोनों खिलाड़ियों को जीवनदान भी मिला.

इसके पहले एस बद्रीनाथ 14 रन बनाकर दिलहारा फ़र्नांडो की गेंद पर आउट हो गए.

हेडन ने सिर्फ़ 17 रन बनाए. उन्होंने 31 गेंदों का सामना किया और केरॉन पोलार्ड की गेंद पर रायडू को कैच दे बैठे.

मुरली विजय ने 26 रनों का योगदान दिया. पहले विकेट के लिए मुरली विजय और मैथ्यू हेडन के बीच 44 रनों की साझेदारी हुई.

महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व वाली चेन्नई की टीम आईपीएल-1 में भी फ़ाइनल में पहुँची थी, लेकिन उस समय राजस्थान रॉयल्स के हाथों उसे हार का सामना करना पड़ा था.

लेकिन इस बार वो मुंबई को हराने में कामयाब रही.

संबंधित समाचार