पाकिस्तान ने दिखाया था दम

दूसरे आईसीसी ट्वेन्टी-20 विश्व कप का आयोजन वर्ष 2009 में इंग्लैंड में हुआ.

पहले ट्वेन्टी-20 विश्व कप की सफलता से उत्साहित आईसीसी ने इस बार इसमें पहले के मुक़ाबले ज़्यादा रुचि ली और पुरुषों के टी-20 विश्व कप के साथ-साथ महिलाओं का टी-20 विश्व कप भी आयोजित किया गया.

लेकिन भारतीय क्रिकेट प्रेमियों को इस प्रतियोगिता ने काफ़ी निराश किया. क्योंकि भारत अपने ख़िताब की रक्षा नहीं कर पाया.

टीम का प्रदर्शन बहुत ख़राब रहा. दूसरी ओर पिछली बार भारत से फ़ाइनल में हार चुके पाकिस्तान ने बेहतरीन खेल दिखाया और सभी जानकारों की भविष्यवाणियों को झुठलाते हुए ख़िताब पर क़ब्ज़ा कर लिया.

प्रतियोगिता

इस प्रतियोगिता में 12 टीमों ने हिस्सा लिया.

ज़िम्बाब्वे को छोड़कर सभी टेस्ट खेलने वाले देशों के अलावा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के तीन एसोसिएट सदस्य देशों को भी क्वालीफ़ाई करने के बाद खेलने का मौक़ा मिला.

तीन-तीन टीमों के चार ग्रुप बनाए गए. हर ग्रुप की दो शीर्ष टीमें सुपर आठ के स्तर पर गईं, जिन्हें चार-चार के दो ग्रुप में बाँटा गया. फिर इस ग्रुप की शीर्ष दो टीमें सेमी फ़ाइनल में पहुँची.

पिछले बार की चैम्पियन भारत की टीम सुपर-8 तक तो पहुँची, लेकिन यहाँ सभी मैच हारकर प्रतियोगिता से बाहर हो गई.

संबंधित समाचार