अमरीका की हार के लिए प्रार्थना

  • 8 मई 2010
सेले
Image caption सेले के मुताबिक़ ओबामा मैच देखने आ सकते हैं

अगर आपकी पसंदीदा टीम किसी अन्य देश के सामने हो, तो आपका सामने वाली टीम की हार की कामना करना स्वाभाविक है.

लेकिन दक्षिण अफ़्रीका में मामला कुछ और है.

अभी विश्व कप फ़ुटबॉल प्रतियोगिता शुरू भी नहीं हुई है और वहाँ प्रार्थना की जा रही है कि अमरीका की टीम शुरुआती दौर में ही प्रतियोगिता से बाहर हो जाए.

ये प्रार्थना करने वाले हैं दक्षिण अफ़्रीका के पुलिस प्रमुख जनरल बेकी सेले. लेकिन उनकी इस प्रार्थना की वजह भी है.

अगर विश्व कप फ़ुटबॉल के दौरान अमरीका की टीम नॉक आउट दौर में पहुँचती है, तो अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा वहाँ आ सकते हैं.

सक्षम

और पुलिस प्रमुख की चिंता इसी बात लेकर है. उन्होंने कहा, "हमारी प्रार्थना ये है कि अमरीका की टीम दूसरे दौर में न पहुँच पाए."

हालाँकि उन्होंने यह स्पष्ट किया कि उनकी सेना पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम है.

ऐसा पहली बार है कि अफ़्रीका का कोई देश विश्व कप फ़ुटबॉल की मेजबानी कर रहा है. शुक्रवार को केपटाउन के खायेलित्सा क़स्बे में उस समय भारी भीड़ जुट गई, जब विश्व कप की ट्रॉफ़ी वहाँ पहुँची.

हज़ारों लोग इसकी एक झलक पाने के लिए इकट्ठा हो गए और उन्होंने ट्रॉफ़ी की तस्वीरें भी खींची.

सोने की यह ट्रॉफ़ी विश्व कप शुरू होने से एक महीने पहले से देश के अलग-अलग हिस्सों में ले जाई जा रही है.

संबंधित समाचार