टीम लौटी, मैनेजर की रिपोर्ट का इंतज़ार

  • 14 मई 2010
गैरी कर्स्टन
Image caption भारतीय टीम क्रिकेट के कोच गैरी कर्स्टन के हवाले से भारतीय अख़बारों में अनेक ख़बरें छपी हैं

आईसीसी वर्ल्ड ट्वेंटी-20 में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद भारतीय क्रिकेट शुक्रवार को भारत लौट आई है.

कई तरह की अटकलों और अपुष्ट ख़बरों के बीच सभी को इंतज़ार टीम के मैनेजर रंजीब बिस्वाल की रिपोर्ट का है. भारतीय क्रिकेट टीम का मैनेजर टीम के हर दौरे के बाद बीसीसीआई को एक रिपोर्ट देता है.

भारत के अनेक अख़बारों में और टीवी चैनल्स पर टीम के प्रदर्शन की कड़ी आलोचना हो रही है. भारत में छपने वाले कई प्रमुख समाचार पत्रों में भारतीय क्रिकेट टीम के कोच गैरी कर्स्टन की टीम के सीनियर खिलाड़ियों से 'अप्रसन्नता' की ख़बरें छपी हैं.

अख़बारों में ये भी छपा है कि कोच कर्स्टन ने कुछ खिलाड़ियों की फ़िटनेस पर प्रश्नचिन्ह लगाए हैं.

कोच गैरी कर्स्टन ने ख़बरों पर न टिप्पणी की है और न ही इनकी पुष्टि की है. उधर बीसीसीआई प्रवक्ता और उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा है कि उन्हें कोच गैरी कर्स्टन से खिलाड़ियों की फ़िटनेस या वेस्ट इंडिज़ में प्रदर्शन के बारे में अभी कोई रिपोर्ट या ईमेल नहीं मिला है.

शायद मैनेजर रंजीब बिस्वाल की रिपोर्ट के बाद ही तस्वीर साफ़ हो पाएगी.

उधर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने चंडीगढ़ में कार्यक्रम के दौरान कहा कि टीम ने आईसीसी ट्वेंटी-20 में पूरी कोशिश की और अब उन्हें प्रशंसकों के सहयोग की ज़रुरत है.

आईसीसी वर्ल्ड ट्वेंटी20 का 2007 में हुआ पहला संस्करण जीतने वाली भारतीय टीम ने उसके बाद हुए दोनों विश्व ट्वेंटी-20 प्रतियोगिताओं में ख़राब प्रदर्शन किया है.