पेस-ड्लोही की जोड़ी चूक गई

पेस-ड्लोही
Image caption पेस और ड्लोही ने कुछ चूकें कीं

दूसरी वरीयता प्राप्त डेनियल नेस्टर और नेनाड ज़िमोंजिक की जोड़ी ने फ़ेंच ओपन में 2010 का मेन्स डबल का ख़िताब जीत लिया है.

इसके साथ ही भारतीय खिलाड़ी लिएंडर पेस और उनके चेक पार्टनर लुकास ड्लोही का लगातार दूसरी बार यह ख़िताब जीतने का सपना टूट गया है.

कनाडा के नेस्टर और सर्बिया के ज़िमोंजिक ने पेस-ड्लोही की जोड़ी को 5-7, 6-2 से हराया.

नेस्टर और ज़िमोंजिक की जोड़ी वर्ष 2008 में यह ख़िताब जीतने से चूक गई थी.

हार

पेस-ड्लोही की जोड़ी दो ब्रेक प्वॉइंट का फ़ायदा नहीं उठा सकी जबकि नेस्टर-ज़िमोंजिक की जोड़ी ने चार में से तीन ब्रेक प्वॉइंट का लाभ उठाया.

1999 और 2001 में महेश भूपति के साथ यह ख़िताब जीत चुके और फिर वर्ष 2009 में लुकास ड्लोही के साथ ख़िताब जीतने वाले लिएंडर पेस ने हार के बाद कहा, "ये दो हफ़्ते शानदार थे और मुझे ख़ुशी है कि हम लगातार दूसरी बार फ़ाइनल में पहुँचे. मैं लुकास का शुक्रिया अदा करता हूँ कि वे मेरे जोड़ीदार बने रहे."

जबकि ड्लोही ने अपने प्रतिद्वंद्वी के शानदार खेल की तारीफ़ की और कहा, "वे बहुत अच्छा खेले. उम्मीद है कि मैं और लिएंडर कुछ और टूर्नामेंट साथ में खेलेंगे और अगले साल हम ये ख़िताब फिर से जीतेंगे."

नेस्टर और ज़िमोंजिक की जोड़ी पहली बार वर्ष 2008 में फ़ाइनल में पहुँची थी लेकिन तब क्वेवास और होर्ना की जो़ड़ी ने उन्हें परास्त किया था. जबकि पिछले साल यानी वर्ष 2009 में पेस-ड्लोही की जोड़ी ने उन्हें सेमीफ़ाइनल में हराकर प्रतियोगिता से बाहर कर दिया था.

इस तरह से देखें तो नेस्टर-ज़िमोंजिक ने पिछले साल की हार का बदला ले लिया है.

इस जोड़ी के लिए यह तीसरा ग्रैंड स्लैम टाइटिल है. इससे पहले उन्होंने वर्ष 2008 और 2009 विंबलडन मेन्स डबल्स का ख़िताब जीता था.

संबंधित समाचार