जर्मनी-इंग्लैंड पर होगी नज़र

जर्मनी की टीम
Image caption जर्मनी की टीम ने पहले मैच से अपनी धमक बनाई है

शुक्रवार को पहला मैच पोर्ट एलिज़ाबेथ में जर्मनी और सर्बिया के बीच खेला जाएगा.

जर्मनी ने विश्व कप में अपने अभियान की शुरुआत सबसे शानदार अंदाज़ में की थी. जर्मनी ने अपने पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया को 4-0 से मात दी थी और शीर्ष टीम को चेतावनी दे दी थी कि वे भी इस प्रतियोगिता में ख़िताब के प्रबल दावेदार हैं.

शुरू में विश्व कप के मैच काफ़ी नीरस माने जा रहे थे लेकिन जर्मनी ने एक मैच में चार लोग मारकर प्रतियोगिता में रोमांच पैदा किया. लेकिन कोच जोकिम लॉ अपने युवा खिलाड़ियों से यह उम्मीद करेंगे कि वे संयम से खेलें और ज़्यादा उत्तेजित न हों.

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ मैच में गोल मारने वाले थॉमस मुलर ने भी कहा है कि सर्बिया के ख़िलाफ़ टीम संयम से खेलेगी.

दूसरी ओर घाना के ख़िलाफ़ मैच में सर्बियाई खिलाड़ियों का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था. लेकिन जर्मनी के ख़िलाफ़ उनका ख़राब प्रदर्शन उन्हें विश्व कप से बाहर भी कर सकता है. सर्बिया के नेमान्जा विदिच का कहना है कि उनकी टीम जर्मनी से नहीं डरती.

टीमों की बात करें तो जर्मनी के स्वाइंज़टाइगर का खेलना संदिग्ध है. उनकी तबीयत ठीक नहीं और वे ट्रेनिंग के लिए भी नहीं आए.

सर्बिया के एलेक्ज़ेंडर लोकोविच को घाना के ख़िलाफ़ मैच में रेड कार्ड दिखाया गया था. इस कारण जर्मनी के ख़िलाफ़ मैच में नेवेन सूबोटिच को मैदान में उतारने की तैयारी है.

अमरीका-स्लोवेनिया

दिन का दूसरा मैच जोहानेसबर्ग के एलिस पार्क स्टेडियम में अमरीका और स्लोवेनिया के बीच खेला जाएगा. स्लोवेनिया की टीम अपना पहला मैच अल्जीरिया से 1-0 से जीत गई थी. जबकि अमरीका और इंग्लैंड का मैच 1-1 से ड्रॉ रहा था.

स्लोवेनिया ने अपना पहला मैच जीता था, इसलिए अमरीका के ख़िलाफ़ मिली जीत से उसके दूसरे दौर में पहुँचने का रास्ता साफ़ हो सकता है.

अमरीका की भी टीम ये मानती है कि स्लोवेनिया के हाथों अगर उन्हें हार मिली तो पहले मैच में ड्रॉ का कोई मतलब नहीं और हो सकता है कि अमरीका की टीम प्रतियोगिता से बाहर हो जाए.

लेकिन इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मैच में 1-0 से पिछड़ने के बाद अमरीका ने शानदार वापसी की थी और मैच बराबरी पर छूटा था. अमरीका के गोलकीपर टिम हॉवर्ड इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मैच में एमिली हेस्की से टकरा गए थे और उन्हें भी चोट आई थी. लेकिन वे इस मैच में खेलेंगे.

इंग्लैंड के लिए अहम मैच

Image caption रॉबर्ट ग्रीन के हाथों से बॉल का फ़िसल जाना उन्हें भारी पड़ा है

दिन का तीसरा और आख़िरी मैच इंग्लैंड और अल्जीरिया के बीच खेला जाएगा. इंग्लैंड के लिए ये मैच काफ़ी अहम है. क्योंकि हारने का मतलब है कि दूसरे दौर में जाने का रास्ता और मुश्किल.

अल्जीरिया के हारने का मतलब है दूसरे दौर में जाने का उसका रास्ता लगभग बंद. स्लोवेनिया के ख़िलाफ़ मैच में गोलकीपर फ़ौज़ी चाओची की ग़लती से रॉबर्ट कोरेन ने गोल किया था.

चाओची घायल हैं और उनका खेलना संदिग्ध है. हालांकि इसका स्लोवेनिया के ख़िलाफ़ मैच में उनके प्रदर्शन से कोई लेना-देना नहीं है. कुछ इसी तरह का प्रदर्शन अमरीका के ख़िलाफ़ मैच में इंग्लैंड के गोलकीपर रॉबर्ट ग्रीन ने किया था.

लेकिन उम्मीद है कि वे इस मैच में खेलेंगे. इंग्लैंड की ओर से गैरेथ बैरी भी इस मैच में खेल सकते हैं. वे पिछले दिनों घायल हो गए थे.

संबंधित समाचार