साइना ने रचा इतिहास

साइना नेहवाल (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption साइना नेहवाल का ये दूसरा सुपर सीरिज़ ख़िताब है.

साइना नेहवाल ने चीन की जू यिंग तेई को लगातार गेमों में 21-18, 21-15 से हराकर सिंगापुर ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट का ख़िताब अपने नाम कर लिया.

यह साइना नेहवाल का दूसरा सुपर सीरिज़ ख़िताब है.

वैसे विश्व स्तर पर साइना नेहवाल को छठवीं वरीयता प्राप्त है लेकिन इस प्रतियोगिता के लिए उन्हें शीर्ष वरीयता दी गई थी.

इस ख़िताब को हासिल करने के लिए उन्हें दो चीनी खिलाड़ियों को हराना पड़ा.

इससे पहले पिछले साल साइना ने इंडोनेशियन ओपन का ख़िताब जीता था.

वे अगले सप्ताह फिर से इंडोनेशिया ओपन खेलने जा रही हैं.

वैसे यह साइना की लगातार दूसरी खिताबी जीत है. उन्होंने पिछले सप्ताह चेन्नई में इंडियन ओपन ग्रांप्री ख़िताब जीता था. वो भारत की ऐसी पहली महिला बैटमिंटन खिलाड़ी हैं जिन्होंने लागातार दो सुपर सीरीज़ जीतीं हैं.

शानदार जीत

साइना ने अपनी जीत पर कहा, "मुझे अपने प्रदर्शन के बारे में पूरा विश्वास था, निश्चित रूप से यह एक शानदार जीत है."

बेटी की जीत के बाद साइना के पिता हरवीर सिंह ने भी अपनी ख़ुशी का इज़हार किया है.

हरवीर सिंह ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि साइना निश्चित तौर पर ये ख़िताब जीतेगी और उनके लिए इस जीत के ख़ास मायने हैं.

साइना के कोच पुलेला गोपी का कहना है कि सिंगापुर ओपन बैडमिंटन का ख़िताब हासिल करना एक बड़ी सफलता है.

उन्होंने याद दिलाया कि साइना ने इस टूर्नामेंट के सेमी फ़ाइनल में विश्व चैंपियन और चौथीं वरीयता प्राप्त लू लान को हरा कर ख़िताब के फ़ाइनल में प्रेवश किया था.

पुलेला गोपी का कहना था कि इस जीत के साथ ही साइना बैटमिंटन की शिर्ष खिलाड़ियों की श्रेणी में पहुंच गई हैं.

ग़ौरतलब है कि साइना ऑलंपिक में एकल क्वाटर र्फाइनल में पहुंचने वाली प्रथम भारतीय महिला हैं.

संबंधित समाचार