एशिया कप भारत के नाम

एशिया कप के फ़ाइनल में हार के सिलसिले को पलटते हुए भारत ने श्रीलंका को 81 रनों से हराकर आख़िरकर एशिया कप पर कब्ज़ा कर लिया है.

भारत ने जीत के लिए 269 रनों का लक्ष्य रखा था लेकिन श्रीलंका की पूरी टीम 44.4 ओवरों में 187 के स्कोर पर ही आउट हो गई.

भारत के लिए गेंदबाज़ों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. आशीष नेहरा ने चार विकेट चटके.

वहीं बल्लेबाज़ी में दिनेश कार्तिक ने 66 रनों का अहम योगदान दिया. उन्हें प्लेयर ऑफ़ द मैच चुना गया.

पूरी प्रतियोगिता में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए शाहिद अफ़्रीदी प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट बने.

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी चुनी. सलामी बल्लेबाज़ गौतम गंभीर 15 के स्कोर पर सातवें ही ओवर में रन आउट हो गए. इसके बाद दिनेश कार्तिक ने विराट कोहली के साथ मिलकर स्कोर को आगे बढ़ाना शुरु किया. कोहली 28 रन पर मलिंगा का शिकार बने.

लेकिन दिनेश कार्तिक ने दूसरे छोर से आक्रमण जारी रखा और ख़ूब चौके लगाए. कप्तान धोनी ने भी उनका साथ दिया. लेकिन 29वें ओवर में कार्तिक कादंबे का शिकार बन बैठे. उन्होंने नौ चौकों की मदद से 66 रन बनाए. फिर 33वें ओवर में कादंबे ने धोनी को भी अपना शिकार बनाया. उन्होंने 38 रनों का योगदान दिया.

तब तक भारत का स्कोर चार विकेट पर 167 रन हो चुका था. कार्तिक-धोनी के आउट होने के बाद भमध्यक्रम के बल्लेबाज़ों ने रन बनाने का सिलसिला जारी रखा. रोहित शर्मा ने 41 रन बनाए तो सुरेश रैना 29 रन जोड़कर मलिंगा की गेंद पर आउट हुए.

अंतिम ओवरों में रविंद्र जडेजा ने 27 गेंदों में 25 रन जोड़े और आउट नहीं हुए. भारत ने 50 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 268 रन बनाए.

बेहतरीन गेंदबाज़ी

श्रीलंकाई पारी में जहाँ बल्लेबाज़ी बेहद कमज़ोर दिखी तो भारतीय गेंदबाज़ों का जलवा रहा. श्रीलंका को पहले ही ओवर में झटका लगा जब बिना कोई रन बनाए दिलशान प्रवीण कुमार की गेंद पर आउट हो गए.

श्रीलंका के ऊपरी क्रम के बल्लेबाज़ मैदान पर टिक ही नहीं पाए और लगातार आउट होते गए. थरंगा आठवें ओवर में 16 के स्कोर पर ज़हीर खान की गेंद पर आउट हुए तो जयवर्धने के रूप में तीसरा विकेट गिरा. आशिष नेहरा ने उन्हें 11 के स्कोर पर 14वें ओवर में चलता किया.

नेहरा इसके बाद काफ़ी घातक साबित हुए. उन्होंने मैथ्यूज़ और संगकारा को भी पवेलियन का रास्ता दिखाया. 16वें ओवर में श्रीलंका का स्कोर था पाँच विकेट के नुकसान पर मात्र 51 रन.

इसके बाद कादंबे और कापुदेगरा ने आकर स्थिति को थोड़ा संभाला. लेकिन कादंबे 31 के स्कोर पर रन आउट हो गए. कापुदेगरा मैदान पर डटे रहे लेकिन दूसरे छोर पर श्रीलंकाई बल्लेबाज़ लगातार आउट होते गए.

ज़हीर खान, रविंद्र जडेजा और नेहरा ने मिलकर पूरी टीम को धराशायी कर दिया. श्रीलंका की पूरी टीम केवल 44.4ओवरों में 187 रन बनाकर आउट हो गई. कापुदेगरा 55 रन बनाकर नॉट आउट रहे. आशिष नेहरा ने चार विकेट लिए तो ज़हीन खान और रवींद्र जडेजा को दो-दो विकेट मिले.

संबंधित समाचार