फ़ेडरर विंबलडन से बाहर

रोजर फ़ेडरर
Image caption रोजर फ़ेडरर छह बार विंबलडन का ख़िताब जीत चुके हैं.

रोजर फ़ेडरर विंबलडन ओपन के क्वार्टर फ़ाइनल में टॉमस बरडिच से हार गए हैं. बुधवार को सेंटर कोर्ट पर हुए मुक़ाबले में चार सेटों तक चले खेल में बरडिच ने फ़ेडरर को छे-चार, तीन-छे, छे-एक, और छे-चार से मात दी.

छह बार विंबलडन प्रतियोगिता जीत चुके रोजर फ़ेडरर को हराकर चेक गणराज्य के टॉमस बरडिच सबको हैरान कर दिया है. ये बरडिच के करियर की सबसे बड़ी जीत है.

फ़ेडरर इस टूर्नामेंट में फ़ाइनल से पहले सिर्फ़ एक बार 2002 में हारे थे. इस बार उनका लक्ष्य सातवीं बार विंबलडन जीतने का था.

जीत की ख़ुशी

लेकिन टॉमस बरडिच ने बुधवार को हुए मैच में बढ़िया प्रदर्शन करते हुए सेमी-फ़ाइनल में जगह बनाई है. अब वो सेमी-फ़ाइनल में सर्बिया के नोवाक जोकोविच से भिड़ेंगे.

सेंटर कोर्ट पर शानदार जीत के बाद टॉमस बरडिच ने बीबीसी को बताया, "ये कहना बहुत ही मुश्किल है कि मैं कैसा महसूस कर रहा हूं, यक़ीन नहीं हो रहा है."

उन्होंने आगे कहा, " सेंटर कोर्ट पर रोजर फ़ेडरर जैसे खिलाड़ी के ख़िलाफ़ खेलना और उसके बाद विजयी होना एक बढ़िया अनुभव है. ये मेरे करियर का सबसे मुश्किल मैच था और ये मेरे एक बड़ा क़दम भी है. मैं बहुत ख़ुश हूं. "

वर्ष 1990 में इवान लेंडल के बाद विंबलडन के पुरुष मुक़ाबलों के अंतिम चार में पहुंचने वाले टॉस बरडिच पहले चेक खिलाड़ी हैं.

संबंधित समाचार