विवाह बंधन में बंध गए धोनी

  • 5 जुलाई 2010
महेंद्र सिंह धोनी (तस्वीर- महादेव सेन)
Image caption महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी शादी में चुनिंदा लोगों को ही आमंत्रित किया था

करोड़ों लोगों के दिलों पर राज करनेवाले भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रविवार रात साक्षी सिंह रावत के साथ सात फेरे लिए. उनकी शादी क्रिकेट और ग्लैमर की चमक-दमक से दूर एक बेहद निजी और पारंपरिक शादी रही.

देहरादून से क़रीब 40 किमी दूर विधोली के जंगलों में स्थित विश्रांति फ़ार्म हाउस में शादी का समारोह हुआ.

ये फ़ार्म हाउस इतने एकांत में है कि वहां पक्की सड़क तक नहीं है. इसमें धोनी और साक्षी के क़रीबी रिश्तेदारों,मित्रों और क्रिकेट और सिने जगत के चुनिंदा लोगों को ही आमंत्रित किया गया था.

जॉन अब्राहम, आशीष नेहरा और आरपी सिंह इनमें से कुछ प्रमुख नाम हैं.

मीडिया के लिये एक तरह से नाकेबंदी थी और समारोह स्थल पर सारे दिन–रात पुलिस का कड़ा पहरा था.

दिलचस्प घोषणा

दिलचस्प ये रहा कि इस शादी की औपचारिक घोषणा एक तरह से धोनी की बारात के लिए सजीली घोड़ी लानेवाले घोड़ीवाले ने की.

Image caption जॉन अब्राहम भी शामिल हुए धोनी की शादी में.

उसी ने पत्रकारों को बताया कि धोनी ने कैसे रंग की शेरवानी पहनी हुई थी, आरपी सिंह ने कैसा साफ़ा बांधा था, जॉन अब्राहम कैसे फ़ोटो खिंचवा रहे थे और ये भी कि आशीष नेहरा अपने दोस्त की शादी में कैसे झूमे और कितने ठुमके लगाए.

उसने ये भी बताया कि बारात में मुश्किल से 25-30 लोग थे और धोनी चुटकी में ही घोड़ी पर चढ़े और कुछ ही मिनटों में घुड़चढ़ी की रस्म पूरी हो गई.

धोनी और साक्षी दोनों ही मूल रूप से उत्तराखंड के हैं हांलाकि दोनों के ही परिवार रांची में रहे और उनका बचपन और पढ़ाई रांची में ही हुआ.

देहरादून में साक्षी की रिश्ते की बहन और बहनोई रहते हैं और ये दोनों ही आईपीएस अधिकारी हैं. साक्षी के बहनोई धोनी के भी पुराने मित्र बताए जाते हैं. बताया जाता है कि इस शादी में इन दोनों की और जॉन अब्राहम की महत्त्पूर्ण भूमिका है.

धोनी के चट मंगनी पट ब्याह करने पर उनके प्रशंसक अचंभित भी हैं, खुश भी और थोड़े निराश भी क्योंकि अभी तक किसी को उनकी एक झलक भी देखने को नहीं मिली है. फोन, मेल और इंटरनेट पर धोनी को बधाई देनेवालों का तांता लगा हुआ है

चर्चा

धोनी की शादी से अचानक चर्चा का केंद्र बन गए देहरादून के लोग इससे काफ़ी रोमांचित हैं.

परमजीत सलूजा कहते हैं हमारे लिए इससे अधिक गर्व की बात और क्या हो सकती है कि धोनी दून के दामाद बन गए हैं.

होटल जहां धोनी की सगाई हुई, ब्यूटी पार्लर जहां साक्षी तैयार हुई, रिसॉर्ट जहां फेरे लिये गए, फूल की दुकान जहां से जयमाला खरीदी गई, डिस्क जॉकी जिसने शादी में संगीत बजाया ये सब बताना चाह रहे हैं कि उनके लिए ये ज़िंदगी का सबसे बड़ा तोहफ़ा है जो वो क़िस्मत से धोनी की शादी से जुड़ पाए.

बताया जा रहा है कि जल्दी ही धोनी दंपत्ति मुंबई और रांची में शादी की शानदार दावत देंगे.

संबंधित समाचार