सचिन के ख़ून में रंगी किताब

  • 20 जुलाई 2010

अपने ऊपर लिखी जा रही नई किताब को सचिन तेंदुलकर ने लाजवाब बताया है.

‘तेंदुलकर ओपस’ नाम की इस किताब का विशेष संस्करण निकाला जाएगा. इस संस्करण की ख़ासियत ये है कि किताब के एक पन्ने पर मास्टर ब्लास्टर का ख़ून रहेगा.

यानी ये विशेष पन्ना जिस पेपर पल्प से बनेगा उसमें तेंदुलकर का ख़ून मिला रहेगा.

852 पन्नों वाली इस विशाल किताब का वज़न 37 किलोग्राम होगा और इसमें 1500 से ज़्यादा तस्वीरें होंगी- हर तस्वीर एक सुनहरे पत्ते में गढ़ी रहेगी.

इस किताब के प्रकाशक क्राकेन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कार्ल फ़ाउलर ने एक साक्षात्कार में कहा है कि हो सकता है कि इस तरह की किताब सबको रास न आए.पर साथ ही ये भी कहा कि ये किताब एक ऐसे खिलाड़ी के लिए है जिसे लाखों लोग बहुत मानते हैं.

हर प्रति की क़ीमत 75000 डॉलर होगी. प्रकाशकों का कहना है कि इस किताब की दस प्रतियों के लिए ऑर्डर आ चुका है.

ये राशि तेंदुलकर की चैरिटी संस्था के लिए दी जाएगी. ये संस्था मुंबई में एक स्कूल बनवा रही है.

उम्मीद है कि ये किताब अगले साल फ़रवरी में प्रकाशित की जाएगी जब भारतीय उपमहाद्वीप में विश्व कप का आयोजना होगा.

बताया जा रहा है कि तेंदुलकर से उनके लार (saliva) का नमूना भी माँगा गया है ताकि उनका डीएनए प्रोफ़ाइल तैयार किया जा सके. उनका डीएनए प्रोफ़ाइल भी किताब में छापा जाएगा.

.

संबंधित समाचार