गॉल टेस्ट में बेहाल भारतीय टीम

  • 21 जुलाई 2010
तेंदुलकर के 84 रन
Image caption इस साल लगातार पांच टेस्ट मैचों में शतक से चूक गए सचिन

भारत बनाम श्रीलंका टेस्ट श्रृंखला के पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन का खेल ख़त्म होने पर भारत पर हार का ख़तरा मंडरा रहा है. दिन का खेल ख़त्म होने तक भारत का स्कोर रहा 181/5. फॉलो ऑन पर विवश होने के बावजूद भारतीय टीम अब भी श्रीलंका की पहली पारी के स्कोर से 63 रन पीछे चल रहा है.

गुरुवार को खेल के आख़िरी दिन भारत मैदान पर मैच बचाने के लिए उतरेगा.

फॉलोऑन करते हुए तीसरी विकेट के लिए खेल रहे सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ ने 119 रनों की मज़बूत साझेदारी की. लेकिन उनकी साझेदारी ज़्यादा देर तक नहीं चल पाई और श्रीलंकाई गेंदबाज़ लसिथ मलिंगा ने छह गेंदों में दोनों ही बल्लेबाज़ों को पेवेलियन लौटा दिया.

राहुल द्रविड़ 152 गेंदों में 44 रन बनाकर आउट हुए जबकि सचिन तेंदुलकर ने 142 गेंदों में 84 रन बनाए. तेंदुलकर ने ग्यारह चौके और एक छक्का जड़ा.

Image caption मुरलीधरन 800 विकेट के रिकॉर्ड से सिर्फ दो विकेट दूर हैं.

इस साल लगातार पांच टेस्ट मैचों में तेंदुलकर शतक बनाने से चूक गए हैं.

भारत की तरफ़ से गौतम गंभीर के लिए ये टेस्ट बेहद ख़राब रहा. गंभीर पहली पारी में दो ही रन बना पाए जबकि दूसरी पारी में कोई भी रन नहीं बना पाए.

पहली पारी में शतक जड़ चुके वीरेंद्र सहवाग दूसरी पारी में 31 रन बनाकर माहेला जयवर्दने के हाथों कैच आउट हो गए.

श्रीलंका की तरफ़ से मुथैया मुरलीधरन की गेंदबाज़ी दूसरी पारी में उतनी ख़ास नहीं रही जितनी पहली पारी में थी. लेकिन दिन की आख़िरी गेंद पर मुरलीधरन ने युवराज सिंह का महत्वपूर्ण विकेट ले लिया.

उसके बाद ख़राब रोशनी के कारण दिन का मैच ख़त्म करना पड़ा.

टेस्ट मैचों में सबसे ज़्यादा विकेट ले चुके मुथैया मुरलीधरन अपने 800 विकेट के रिकॉर्ड से सिर्फ दो विकेट दूर हैं.

मुरलीधरन का ये आख़िरी टेस्ट मैच है और वे पहले ही कह चुके हैं कि उनका लक्ष्य इस मैच 800 विकेट पूरा करना है.

संबंधित समाचार