बेदी साधारण गेंदबाज़ थे: मुरली

मुरलीधरन

टेस्ट क्रिकेट में 800 विकेट लेने वाले श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने लंबे समय से अपने आलोचक रहे बिशन सिंह बेदी को आड़े हाथों लेते हुए उन्हें विवाद पैदा करने वाला और साधारण गेंदबाज़ करार दिया है.

ग़ौरतलब है कि बेदी मुरली के जबरदस्त आलोचक रहे हैं और उन्होंने ही मुरली को 'चकर' कहा था और आईसीसी से मुरली की विशेष गेंद ‘दूसरा’ पर पाबंदी लगाने की अपील की थी.

मीडिया से बातचीत में मुरलीधरन ने कहा कि बेदी को कोई भी बल्लेबाज़ बहुत आसानी से खेल सकता था.

उनका कहना था,''यदि आज बिशन सिंह बेदी गेंदबाज़ी करते होते तो बल्लेबाज़ उनकी बुरी तरह धुनाई करते.''

मुरली ने कहा कि बेदी से अच्छे गेंदबाज़ चंद्रशेखर, ईरापल्ली प्रसन्ना और वेंकटराघवन थे.

उनका कहना,''मैं नहीं समझता कि बेदी को कभी चंद्रशेखर, प्रसन्ना और वेंकटराघवन जैसे गेंदबाज़ों के समक्ष रखा गया हो, मैंने उनकी गेंदबाज़ी देखी है, अगर वो आज खेल रहे होते तो बल्लेबाज़ उनकी हरेक गेंद को आसानी से मार सकते थे.''

मुरली ने कहा कि बिशन सिंह बेदी हमेशा से ही विवादास्पद रहे हैं. उनके साथ दुनियाभर में कई विवाद जुड़े हैं. उन्हें दूसरों पर आरोप लगाने से पहले अपने ओर देखना चाहिए.

बेदी के 'दूसरा' पर प्रतिबंध लगाने के सवाल पर मुरली ने कहा कि बेदी के पास कोई विविधता नहीं थी इसलिए वो स्पिन गेंदबाज़ी की कलाओं पर प्रतिबंध लगाने के बारे में सोचते हैं.

संबंधित समाचार