हॉकी इंडिया की मान्यता समाप्त

  • 6 अगस्त 2010
हॉकी खिलाड़ी

सरकार ने गुरुवार को हॉकी इंडिया को दी गई अस्थाई मान्यता आधिकारिक रूप से वापस ले ली है. सरकार का कहना है कि मान्यता के लिए हॉकी इंडियो ने जो कारण बताए थे वो स्वीकार्य नहीं है.

इस बीच विद्या स्टोक्स हॉकी इंडिया की अध्यक्ष चुनी गई हैं. उन्होंने मतदान में पूर्व हॉकी खिलाड़ी परगट सिंह को हराया. हालांकि दिल्ली हाई कोर्ट के निर्देशों के मुताबिक आधिकारिक नतीजा बाद में घोषित किया जाएगा.

भारत सरकार ने कुछ समय पहले हॉकी इंडिया को शो कॉज़ नोटिस दिया था लेकिन सरकार का कहना है कि उसका जवाब संतोषजनक नहीं है.

हॉकी इंडिया से पूछा गया था कि ऐसे में जब उसने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया है कि वो निजी संस्था है, तो क्यों न उसकी मान्यता रद्द कर दी जाए.

हॉकी इंडिया की दलीलों को नकारते हुए खेल मंत्रालय ने मान्यता समाप्त कर दी है.

इसी सब के बीच हॉकी इंडिया के अध्यक्ष पद का चुनाव भी हुआ है. 83 वर्षीय विद्या स्टोक्स ने उम्र संबंधी सरकारी निर्देशों का उल्लंघन करते हुए चुनाव लड़ा और परगट सिंह को 41-21 से हराया.

अलग-अलग कारणों से एचआई का चुनाव चार बार टाला गया था. 28 जुलाई को दिल्ली और बॉम्बे हाई कोर्ट ने चुनाव पर रोक लगा दी थी.

लेकिन एचआई ने सुप्रीम कोर्ट में अर्ज़ी दायर की और कोर्ट ने रोक के ख़िलाफ़ आदेश दिया था.

संबंधित समाचार