टेनिस खिलाड़ियों ने धमकी वापस ली

महेश भूपति
Image caption खिलाड़ियों ने एआईटीए को अपने फ़ैसले के बारे में लिखा था.

शीर्ष टेनिस खिलाड़ी महेश भूपति, लिएंडर पेस, बोपन्ना और सोमदेव देववर्मन ने खेल मंत्रालय से पिछला भुगतान दिए जाने के आश्वासन के बाद राष्ट्रमंडल खेलों में भाग न लेने की अपनी धमकी को वापस ले लिया है.

खेल मंत्रालय ने सभी खिलाड़ियों को स्पष्ट रुप से ये आश्वासन दिया है कि जैसे ही ऑल इंडिया टेनिस असोसिएशन (एआईटीए) इन खिलाड़ियों के ख़र्चे की पुष्टि कर देगा, उनका भुगतान कर दिया जाएगा. इससे पहले खेल मंत्रालय कह रहा था कि खिलाड़ी अपने खर्चे के असली बिल जमा करें.

अंतरराष्ट्रीय खेल संघ के सचिव राहुल भटनागर ने समाचार एजंसी पीटीआई को बताया, ''इन खिलाड़ियों के भुगतान के लिए अब हमें सिर्फ़ एआईटीए से उस ख़्रच की पुष्टि किए जाने की ज़रूरत है. हमें असली बिलों की ज़रूरत नहीं. किसी भी तरह लिखित रुप में यह साबित होना चाहिए कि खिलाड़ियों ने ये पैसे ख़र्च किए हैं.''

चारों शीर्ष खिलाड़ियों ने इस आश्वासन के बदले राष्ट्रमंडल खेलों में पूरी तैयारी के साथ हिस्सा लेने की घोषणा कर दी है.

'ख़र्च का ब्यौरा सौंप चुके हैं'

चारों खिलाड़ियों की ओर से जारी किए गए एक संयुक्त वक्तव्य में कहा गया है कि ये खिलाड़ी काफ़ी समय पहले ही अपने ख़र्च का ब्यौरा एआईटीए के अलग-अलग अधिकारियों को सौंप चुके हैं.

वक्तव्य में यह भी कहा गया है कि राष्ट्रमंडल खलों में भाग न लेने को लेकर जो पत्र एआईटीए को लिखा गया वो पूरी तरह से निजी था और उसका मीडिया में लीक हो जाना दुखद है.

वक्तव्य में लिखा है, ''बकाया भुगतान की बात को लेकर हम मीडिया के बीच कोई हंगामा खड़ा करना नहीं चाहते थे. हम सिर्फ़ इतना चाहते थे कि हमें जो परेशानी हो रही है वह मंत्रालय तक पहुंचे. हमें उम्मीद है कि खेल संघ जल्द से जल्द पूरी ईमानदारी के साथ हमारी समस्या का निपटारा करेगा.''

संघ के सचिव राहुल भटनागर सोमवार को एआईटीए के अधिकारियों से मिलेंगे.

माना जा रहा है कि एआईटीए के अधिकारियों को दो खिलाड़ियों के ख़र्च का ब्यौरा मिल चुका है और सोमवार तक वो बाकि खिलाड़ियों के ब्यौरे भी जुटा लेंगे.

संबंधित समाचार