रहमान ने किया सुरीला आग़ाज़

अगर आपके दिलो दिमाग़ पर अब तक शकीरा का गाना वाका वाका छाया हुआ है तो अपना मूड बदलने के लिए तैयार हो जाएँ. क्योंकि ऑस्कर विजेता संगीतकार एआर रहमान कॉमनवेल्थ खेलों के लिए अपनी धुन के साथ तैयार हैं.

दिल्ली के पास गुड़गाँव में हुए एक कार्यक्रम में राष्ट्रमंडल खेलों का थीम सॉन्ग लॉन्च किया गया. आयोजन स्थल का नाम ही था किंग्डम ऑफ़ ड्रीम्स यानी सपनों का देश.

यूँ तो कार्यक्रम में सुरेश कलमाड़ी, दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा भी मौजूद थे लेकिन आयोजन की जान- आन और शान रहमान ही थे.

रहमान सीधे मंच पर उतरे और अपनी जोशीली आवाज़ में थीम सॉन्ग रंगारंग अंदाज़ में लोगों के सामने पेश किया.

गाने के बोल कुछ इस तरह हैं- ओ यारो ये इंडिया बुला लिया, दीवानों ये इंडिया बुला लिया. ये तो खेल है, बड़ा मेल है, मिला दिया. ओ रूकना नहीं, हारना-हारना नहीं...

कार्यक्रम प्रस्तुत करने के बाद रहमान ने कहा, “इस गाने की रचना गौरव की बात रही. ये आसान काम नहीं था. छह महीने पहले इसका जुमला तैयार किया था और आने से पहले रात तक इसे अंतिम रूप देता रहा. उम्मीद है कि लोग इसमें राष्ट्रमंडल खेलों की मूल भावना ढूँढ पाएँगे.”

'मैं घबराया हुआ नहीं हूँ'

रहमान जहाँ अपने सुरीले अंदाज़ में था. वहीं सुरेश कलमाड़ी अपना पुराना राग अलापते रहे कि राष्ट्रमंडल खेल धूम धाम से होंगे. उन्होंने कहा, मैं बिल्कुल घबराया हुआ नहीं हूँ और ये खेल बीजिंग ओलंपिक से भी बेहतर होंगे. रहमान ने तो जश्न की शुरुआत कर ही दी है.

कार्यक्रम देखने आईं शोवना नारायणन को रहमान का गाना काफ़ी पसंद आया. उनका कहना था, "मुझे लगता है कि ये युवाओं को अच्छा लगेगा. युवाओं को इस तरह का रैप म्यूज़िक भाएगा और उनकी ज़बान पर चढ़ जाएगा."

राष्ट्रमंडल खेलों की ये शाम तो सुरमयी रही, लोगों ने रहमान के गाने की तरीफ़ भी की. लेकिन खेल आयोजन से जुड़े ऐसे बहुत से काम अभी बाक़ी है जिनके सुर-ताल-लय बिगड़े हुए हैं.

संबंधित समाचार