नीली पट्टी से दूर रहें वरना जुर्माना भरें

इस ऑडियो/वीडियो के लिए आपको फ़्लैश प्लेयर के नए संस्करण की ज़रुरत है

किसी और ऑडियो/वीडियो प्लेयर में चलाएँ

दिल्ली के विनय मार्ग से अफ़्रीका एवेन्यू जाने वाले मार्ग पर शनिवार को सुबह-सुबह जाम लगा रहा. वजह सिर्फ़ ज़्यादा गाड़ियाँ होना नहीं था. जाम इसलिए भी लगा था क्योंकि कॉमनवेल्थ खेलों के लिए ट्रायल हो रहे हैं और एक लेन कुछ घंटों के लिए पूरी तरह आम लोगों के लिए बंद कर दी गई थी.

यही हाल धौला कुँआ की तरफ़ भी था. दिल्ली पुलिस ने चार सितंबर को यातायात का जायज़ा लेने के लिए ट्रायल किया.

विशेष पुलिस आयुक्त (ट्रैफ़िक) अजय चढ्ढा ने ट्रायल से पहले जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान दिल्ली में कई मार्गों पर एक लेन आम लोगों के लिए बंद रहेगी. नियम तोड़ने वालों पर 2000 रुपए जुर्माना भी है. इस लेन पर नीले रंग के पैच बनाए जा रहे हैं जिसपर सीडब्ल्यूजी 2010 लिखा है.

शनिवार को हुए ट्रायल के दौरान भी ये लेन बंद रही और लोगों पर नज़र रखने के लिए जगह-जगह ट्रैफ़िक पुलिस भी तैनात थी.

यातायात की चुनौती

सुबह 11 बजे हम भी विनय मार्ग से अफ़्रीका एवेन्यु तक निकले और आरके खन्ना स्टेडियम तक गए. शुरु शुरु में तो सड़कें सूनी-सूनी थीं और यातायात पर ज़्यादा असर नहीं दिखा. लेकिन जैसे-जैसे हम आगे बढ़े एक लेन बंद होने का असर साफ़ नज़र आने लगा.

देखते ही देखते सड़क पर जाम लग गया और सन्नाटे की जगह गाड़ियों के ज़ोर-ज़ोर से बजे रहे हॉर्न ने ले ली.

अफ़्रीका एवेन्यु के पास काम करने वाले श्याम सुंदर काफ़ी नाराज़ आए. वे कहते हैं, “खेल अपनी जगह है लेकिन आम लोग इसके लिए नुकसान क्यों उठाए. आम लोगों के आने जाने के लिए कुछ तो अलग से इंतज़ाम होना चाहिए. हम काम पर आना तो बंद नहीं कर सकते.”

ट्रायल के दौरान जगह-जगह पुलिसकर्मी तो ज़रूर दिखे लेकिन पुलिस की ओर से लोगों में जागरुकता फैलाने को लेकर कोई मुहिम सड़कों पर नज़र नहीं आई.

आम दिनों में ही राजधानी दिल्ली के ट्रैफ़िक का बुरा हाल रहता है, ज़ाहिर है जब खेलों के दौरान एक लेन बंद रहेगी तो लोगों को दिक्कत होना लाज़मी है जिससे जूझना पुलिस के लिए बड़ा सरदर्द रहेगा.

नज़र मेडल पर

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.