'अख़बार से नादानी में बात कर ली'

तफ़ाज़्ज़ुल रिज़वी
Image caption यासिर हमीद का बयान पढ़कर सुनाते हुए तफ़ाज़्ज़ुल रिज़वी.

पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी यासिर हमीद ने कहा है कि ब्रितानी अख़बार 'न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड' ने एक छिपे कैमरे से रिकॉर्ड की गई उनके साथ बातचीत को ‘ग़लत तरीके से पेश किया है’.

‘न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड’ ने दावा किया है कि हमीद ने उनके रिपोर्टर से पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ियों के सट्टेबाज़ी में शामिल होने के बारे में बात की है.

हमीद ने कहा है कि उन्होंने ‘न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड’ नामक अख़बार से 'भोलेपन' में बातचीत की थी.

हमीद का बयान उस वीडियो के बाद आया है जिसमें ब्रितानी अख़बार ‘न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड’ ने उन्हें सट्टेबाज़ी में पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ियों के कथित तौर पर शामिल होने की बात कहते हुए दिखाया गया है.

रविवार को लंदन स्थित पाकिस्तान उच्चायोग में हमीद से सट्टेबाज़ी स्केंडल पर पूछताछ की गई है.

शुरु में हमीद ने अख़बार से बात करने की बात अस्वीकार कर दी थी लेकिन बाद में ‘न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड’ ने हमीद के साथ बातचीत का वीडियो अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित कर दिया था.

हमीद का पक्ष

अब यासिर हमीद के प्रवक्ता तफ़ाज़्ज़ुल रिज़वी ने हमीद की तरफ़ से बयान जारी कर उनका पक्ष रखा है.

हमीद ने अपने बयान में कहा गया है कि न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड ने कभी भी उनसे संपर्क नहीं किया और न ही उन्होंने पाकिस्तानी क्रिकेट टीम या किसी खिलाड़ी पर लगे आरोपों के बारे में बात करने के लिए इस अख़बार के किसी व्यक्ति से संपर्क किया.

अपने बयान में हमीद आगे कहते हैं कि 30 अगस्त को नॉटिंघम में एक व्यक्ति ने उनसे ‘इत्तिहाद एअरवेज़' के साथ विज्ञापन का क़रार करवाने की पेशकश की थी, उन्हें बाद में पता चला कि ये व्यक्ति ‘न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड’ का मज़हर महमूद है.

हमीद का ये बयान उनके प्रवक्ता तफ़ाज़्ज़ुल रिज़वी ने पढ़कर सुनाया.

'मैंने उसे दोस्त समझा'

बयान में आगे कहा गया, “बातचीत के दौरान उस व्यक्ति ने सट्टेबाज़ी के आरोपों के बारे में चर्चा शुरु कर दी. मैंने उसे दोस्त और संभावित एजेंट समझते हुए उसके सवालों के जवाब देने शुरू कर दिए. जहां तक मुझे याद है मैंने उसे वही बताया जो मैंने अख़बारों में पढ़ा था. मुझे लगता है कि उस व्यक्ति के पास छिपा हुआ कैमरा था लेकिन मुझे इसके बारे में तब पता नहीं था.”

Image caption रविवार को लंदन स्थित पाकिस्तान उच्चायोग से बाहर निकलते हुए पाकिस्तानी बल्लेबाज़ यासिर हमीद.

यासिर हामिद ने आगे अपने बयान कहा है कि इस मुलाक़ात के बाद भी उस व्यक्ति ने उनसे संपर्क करके आरोपों में घिरे तीन पाकिस्तानी खिलाड़ियों के ख़िलाफ़ बयान देने के लिए कहा. बयान देने की एवज़ में, हमीद के अनुसार, उन्हें 25 हज़ार पाउंड की पेशकश की गई जिसे उन्होंने ठुकरा दिया.

हामिद आगे कहते हैं, “इसके बाद मैंने उस व्यक्ति को न तो फ़ोन किया और न ही उसके किसी फ़ोन का जवाब दिया.”

बाद में हामिद को उस व्यक्ति की ओर से एक एसएमएस आया, जिसमें लिखा था, “कृपया मुझे फ़ोन करिए. मैं बता दूं कि मेरे पास आपसे हुई बातचीत का वीडियो है. और हम ये वीडियो रिलीज़ करने वाले हैं. बेहतर होगा कि आप अपना पक्ष रखें और सच बताएं.”

पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी यासिर हमीद के मुताबिक उन्होंने इस एसएमएस के बाद सारी बात पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के बता दी.

संबंधित समाचार