यासिर हमीद को फंसाया गया: आफ़रीदी

शाहिद आफ़रीदी
Image caption शाहिद आफ़रीदी पाकिस्तान की वनडे और टी-20 के कप्तान हैं.

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कप्तान शाहिद आफ़रीदी ने कहा है कि यासिर हमीद को फंसाने की कोशिश की गई है क्योंकि उन्हें अंदाज़ा ही नहीं था कि उनसे क्या कहलवाने की कोशिश की जा रही है.

याद रहे कि 'न्यूज़ ऑफ़ दि वर्ल्ड' की वीडियो में पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी यासिर हमीद पाकिस्तानी क्रिकेट में मैच फ़िक्सिंग और ख़ुद उन्हें मिलने वाली पेशकश की बात कर रहे थे.

यासिर हमीद ने पहले इसे नकारा फिर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने उनका बयान जारी किया जिसमें उन्होंने स्पष्ट किया था कि उन्होंने अपने तौर पर कोई बात नहीं की बल्कि वही बातें कहीं जो मीडिया में आ चुकी हैं.

शाहिद आफ़रीदी ने बीबीसी से बात करते हुए कहा कि उन्हें लगता है कि यासिर हमीद 'ट्रैप' हुए हैं क्योंकि उन्हें इस बात का बिलकुल अंदाज़ा नहीं था कि उनकी बातों को गुप्त रूप से रिकॉर्ड किया जा रहा है.

उन्होंने कहा, " ज़रूर कुछ लोग टीम की बातें उनसे जानना चाह रहे होंगे और यासिर ने भी अनजाने में बातें कर डालीं."

आफ़रीदी ने कहा कि यासिर हमीद ने तीन-चार दिन पहले उमर गुल को फ़ोन किया था जिसमें उन्होंने किसी कॉंट्रैक्ट के बारे में बताया था जिस पर उमर गुल ने उनसे कहा था कि जो साहब भी कॉंट्रैक्ट की बातें कर रहें हैं, वोह कॉंट्रैक्ट की डिटेल्स ईमेल कर दें. यासिर उनसे भी बात करना चाह रहे थे लेकिन वह उस वक़्त व्यस्त थे इसलिए बात न हो सकी.

जीत की ज़रूरत

Image caption आफ़रीदी ने यासिर हमीद का बचाव किया

आफ़रीदी से जब पूछा गया कि इस स्थिति में कितनी सतर्कता की ज़रूरत है क्योंकि मीडिया भी भेष बदलकर खिलाड़ियों के पीछे है तो उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को चाहिए कि वे ग्रुप में शॉपिंग करने या खाना खाने जाएं और अनजान लोगों से किसी भी तरह की बात करने से बचें.

उन्होंने कहा कि टीम मैनेजमेंट ने पहले ही खिलाड़ियों को मीडिया से बात करने और इंटरव्यू देने से मना कर रखा है.

शाहिद आफ़रीदी ने कहा, " पाकिस्तानी टीम को इस वक़्त जीत की बहुत ज़रूरत है और उनकी कोशिश होगी कि अगले मैचों में टीम बेहतर प्रदर्शन करे."

पहले टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में हार के बारे में आफ़रीदी ने कहा कि अच्छी शुरूआत के बाद समय समय पर विकेट गिरने के कारण टीम बड़ा स्कोर न बना सकी और जब गेंदबाज़ी आई तो शुरू में विकटें हासिल करने के बाद सईद अजमल की प्रभावी गेंदबाज़ी नहीं रही और फ़ील्डिंग भी काफ़ी ख़राब रही.

उन्होंने कहा कि जब तक कोई टीम मिलने वाले मौक़ो से लाभ नहीं उठाती है, उसका जीतना मुश्किल होता है.

संबंधित समाचार