सचिन की टीम हारी

  • 11 सितंबर 2010
क्रिकेट
Image caption भारत की ओर से इस टूर्नामेंट में तीन टीमें हिस्सा ले रही हैं.

चैंपियंस लीग ट्वेन्टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता के पहले मैच में आज हाइवेल्ड लायंस की टीम ने मुंबई इंडियंस को नौ रनों से हरा दिया.

मुंबई की कमान जहाँ सचिन तेंदुलकर के हाथों में है तो मेज़बान दक्षिण अफ़्रीकी टीम लायंस के कप्तान एल्वीरो पीटरसन हैं.

हाइवेल्ड टीम ने मुंबई इंडियंस के सामने जीत के लिए 187 रनों का लक्ष्य रखा था.

लेकिन मुंबई इंडियंस 177 पर सिमट गई.

हार के बाद कप्तान सचिन तेंदुलकर का कहना था, "हमने विरोधी टीम को 20 रन ज़्यादा दे दिए और वहीं हम पिछड़ गए."

उनका कहना था कि एक समय लग रहा था कि उनकी टीम लक्ष्य तक पहुंच जाएगी.

सचिन का कहना था, "मेरे और पोलार्ड के आउट होने के बाद हमारे लिए जीतना मुश्किल हो गया.

सचिन ने शानदार 69 रनों की पारी खेली वहीं हाइवेल्ड लायंस की ओर से वैंडियर ने 71 बेहतरीन रन बनाए.

भारत की ओर से इस टूर्नामेंट में तीन टीमें हिस्सा ले रही हैं.

ये टीमें हैं आईपीएल जीतने वाली चेन्नई सुपरकिंग्स, उप विजेता मुंबई इंडियंस और तीसरे स्थान पर रही बैंगलौर रॉयल चैलेंजर्स.

टूर्नामेंट में दक्षिण अफ़्रीका की दूसरी टीम वॉरियर्स है.

इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया की ओर से साउथ ऑस्ट्रेलियन रेडबैक्स और विक्टोरियन बुशरेंजर्स, न्यूज़ीलैंड की ओर से सेंट्रल स्टैग्स, श्रीलंका की ओर से वायंबा एलेवन और वेस्ट इंडीज़ की ओर से गयाना की टीमें इस टूर्नामेंट में हिस्सा ले रही हैं.

पिछली तीन टीमें

इस बार हिस्सा ले रही 10 टीमों में से सिर्फ़ तीन ही टीमें ऐसी हैं जिन्होंने पिछले साल भारत में हुई पहली लीग में हिस्सा लिया था.

वे टीमें थीं रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर, विक्टोरिया और वायंबा.

ग्रुप ए में चेन्नई के अलावा वॉरियर्स, विक्टोरिया, वायंबा और सेंट्रल स्टैग की टीमें हैं. जबकि ग्रुप बी में मुंबई के साथ बैंगलौर, हाइवेल्ड लायंस, साउथ ऑस्ट्रेलिया और गयाना की टीमें हैं.

प्रतियोगिता के सेमीफ़ाइनल मैच 24 और 25 सितंबर को होंगे जबकि फ़ाइनल 26 को खेला जाएगा.

पूर्व भारतीय क्रिकेटर अतुल वासन तीनों भारतीय टीमों में से चेन्नई सुपरकिंग्स को सबसे मज़बूत मानते हैं.

चेन्नई सुपरकिंग्स

Image caption भारत को जीत के लिए अपने ही खिलाड़ियों पर भरोसा करना होगा.

अतुल वासन के अनुसार, "यही ऐसी भारतीय टीम है जिसने आईपीएल के तीनों ही सीज़न में अच्छा प्रदर्शन किया है. इसके अलावा उनके पास मैथ्यू हेडन, मुरली विजय, सुरेश रैना, धोनी, ऐल्बी मॉर्केल और डब बोलिंजर जैसे प्रमुख खिलाड़ी हैं."

वासन मुंबई टीम की बल्लेबाज़ी को काफ़ी मज़बूत मानते हैं. उनके अनुसार, "केरॉन पोलार्ड और सचिन तेंदुलकर के आने से टीम काफ़ी अच्छी हुई है. इसके अलावा आर सतीश, सौरभ तिवारी, आदित्य तारे और अंबाती रायडू जैसे खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है."

मगर वासन के मुताबिक़ मुंबई की टीम की गेंदबाज़ी थोड़ी कमज़ोर है.

दक्षिण अफ़्रीकी टीमों को घरेलू पिच का फ़ायदा मिल सकता है क्योंकि वहाँ उछाल वाली पिच हैं और भारतीय टीमें रात में खेलेंगी और उस समय गेंद वहाँ स्विंग ज़्यादा होती है.

सभी भारतीय टीमों के पास प्रमुख विदेशी खिलाड़ी हैं मगर भारतीय टीमों को जीत के लिए अपने ही खिलाड़ियों पर भरोसा करना होगा.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार