स्पॉट फिक्सिंग के संदिग्ध स्वदेश पहुंचे

पाकिस्तानी खिलाड़ी

इंग्लैंड में स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों में घिरे तीनों संदिग्ध पाकिस्तानी खिलाड़ी पाकिस्तान पहुँच गए हैं जहाँ पुलिस ने उनसे पूछताछ की है.

सलमान बट्ट, मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमिर ज़रूरत पड़ने पर पूछताछ के लिए इंग्लैंड वापस लौट सकते हैं.

वैसे तीनों खिलाड़ियों ने स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों को पूरी तरह से ख़ारिज कर दिया है.

मीडिया और इनका विरोध कर रहे पाकिस्तानी खेल प्रेमियों से बचाने के लिए इनको हवाई अड्डे के पिछले दरवाजे से बाहर लाया गया.

तीनों गेंदबाज़ों पर आरोप है कि उन्होंने पहले से तय ओवर और गेंद पर नो बॉल फेंका और इस जानकारी का सट्टेबाज़ों ने लाभ उठाया.

स्पॉट फ़िक्सिंग का ये आरोप इंग्लैंड के ख़िलाफ़ चौथे टेस्ट में सामने आया जब ब्रिटेन के न्यूज़ आफ़ दी वर्ल्ड अख़बार ने इसका भंडाफोड़ किया. पाकिस्तान ये मैच हार गया था.

एक अन्य पाकिस्तानी खिलाड़ी वहाब रियाज़ से भी पुलिस पूछताछ करेगी.

खंडन

इसके पहले शुक्रवार को पीसीबी के अध्यक्ष एजाज़ बट ने कहा, "पुलिस ने इन खिलाड़ियों के ख़िलाफ़ किसी तरह का अपराध नहीं दर्ज किया है. पुलिस के साथ इन खिलाड़ियों ने हर तरह का सहयोग किया है और कहा है कि वे किसी भी तरह के गलत काम में लिप्त नहीं हैं."

स्कॉटलैंड यार्ड ने सुनिश्चित किया है कि उनको इस बात की जानकारी थी कि खिलाड़ी अपने देश रवाना हो रहे हैं.

पाकिस्तान और इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पाँच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला शुरू हो चुकी है जिसमें पहला मैच इंग्लैंड जीत चुका है.

इस बीच पाकिस्तान ने एक बयान जारी करके इस बात का खंडन किया है कि गेंदबाज आसिफ ब्रिटेन में शरण लेने की योजना बना रहे हैं.

संबंधित समाचार