स्वाइन फ़्लू और डेंगू पर दिशा-निर्देश

दिल्ली में राष्ट्रमंडल खेल शुरू होने से पहले विदेश मंत्रालय ने विदेशी खिलाड़ियों, प्रतिनिधियों और पर्यटकों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं.

एक सप्ताह के अंदर विदेशी खिलाड़ी और प्रतिनिधियों का दिल्ली पहुँचना शुरू हो जाएगा. राष्ट्रमंडल खेल तीन से 13 अक्तूबर तक होंगे.

विदेश मंत्रालय ने स्वाइन फ़्लू और डेंगू के लिए ये दिशा-निर्देश जारी किए हैं. मंत्रालय ने कहा है कि अगर खिलाड़ी या प्रतिनिधि या फिर अन्य विदेशी पर्यटक राष्ट्रमंडल खेलों के लिए भारत आ रहे हैं तो स्वाइन फ़्लू का टीका ज़रूरी नहीं है.

लेकिन टीका लेने वाले लोग इसका रिकॉर्ड अपने पास रखें. विदेश मंत्रालय के मुताबिक़ अगर यात्रा के दौरान किसी को बुख़ार हो जाता है तो वे दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर बने हेल्प डेस्क से संपर्क करें.

सलाह

मंत्रालय के दिशा-निर्देश के मुताबिक़ अगर भारत यात्रा के दौरान इन लोगों में से किसी में फ़्लू या डेंगू के लक्षण पाए जाते हैं तो अपने दल के चिकित्सा अधिकारी से सलाह करें.

विदेश मंत्रालय ने उन्हें इस स्थिति में प्रशिक्षण केंद्र, होटल या फिर स्टेडियम में मौजूद चिकित्सा केंद्र पर भी सलाह-मशविरा लेने को कहा है.

अगर डॉक्टर उन्हें गेम्स विलेज में ही रहने की सलाह देते हैं तो उन्हें तीन स्तरीय सर्जिकल मास्क लगाना पड़ेगा, जो उन्हें उपलब्ध कराया जाएगा.

ऐसे लोगों को सात दिनों तक किसी अन्य से संपर्क न करने की सलाह दी गई है.

अगर स्वाइन फ़्लू और डेंगू के लक्षण में तेज़ी आती है तो उन्हें क़रीबी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करने को कहा गया है.

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान अगर कोई भी डेंगू और स्वाइन फ़्लू की चपेट में आता है तो उन्हें सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरी सलाह से लेकर चिकित्सा सुविधा मुफ़्त में मिलेगी.

संबंधित समाचार