'राष्ट्रमंडल खेलों में सुरक्षा तगड़ी'

दिल्ली के जामा मस्जिद इलाक़े में हुई गोलीबारी के बाद अगले महीने होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों पर होने वाले असर पर अधिकारी अभी कुछ भी कहने से कतरा रहे हैं.

दिल्ली में तीन से 14 अक्तूबर तक राष्ट्रमंडल खेल होने वाले हैं.

लेकिन रविवार को जामा मस्जिद इलाक़े में हुई गोलीबारी के बाद सुरक्षा व्यवस्था पर कई सवाल उठ रहे हैं.

लेकिन बीबीसी के साथ विशेष बातचीत में राष्ट्रमंडल खेलों में सुरक्षा मामलों के समन्वयक नीरज कुमार ने कहा है कि वे मामले पर नज़र रखे हुए हैं और अभी कुछ कहना नहीं चाहते.

बयान

नीरज कुमार ने कहा, "अभी पूरी जाँच हो जाने दीजिए, फिर पता चलेगा. मैं इसकी जाँच से नहीं जुड़ा हुआ हूँ, इसलिए मैं इस पर कुछ नहीं कह सकता."

दूसरी ओर जब मैंने राष्ट्रमंडल खेलों की आयोजन समिति के महासचिव ललित भनोट से संपर्क किया, तो उन्होंने कहा कि सुरक्षा तगड़ी है और चिंता की बात नहीं.

दिल्ली पुलिस में वरिष्ठ अधिकारी नीरज कुमार ने कहा कि वे अभी कुछ भी नहीं कह सकते. लोगों में भय की बात पर उन्होंने कहा, "जब तक पूरी जानकारी हासिल नहीं हो जाती, इस पर कोई भी टिप्पणी करना उचित नहीं होगा."

उन्होंने कहा कि ये कहना जल्दबाज़ी है कि इस घटना के बाद डर का माहौल बन रहा है. नीरज कुमार ने कहा कि और जानकारी मिलने के बाद वे कुछ ठोस कहने की स्थिति में होंगे.

रविवार की दोपहर जामा मस्जिद के बाहर एक पर्यटक बस पर हुई गोलीबारी में दो लोग घायल हो गए हैं, जिन्हें दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

संबंधित समाचार