'कुछ माँगना ही नहीं आया'

  • 29 सितंबर 2010

फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह...एक ऐसा नाम जो परिचय का मोहताज नहीं. पिछले 50 बरसों से देश- विदेश में उन्होंने भारत की साख को चार चाँद लगाए हैं. मिल्खा सिंह वो पहले खिलाड़ी थे जिन्होंने किसी भी राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को उसका पहला स्वर्ण पदक दिलाया था.

वर्ष था 1958,करीब 10 साल पहले आज़ाद हुआ भारत अपनी अलग पहचान की तलाश में था. ऐसे में भारत के एक युवा एथलीट ने कार्डिफ़ में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण जीतकर धूम मचा दी थी. कैसा रहा होगा वो मंज़र....

मिल्खा सिंह यादों को टटोलते हुए बताते हैं,''मुझे आज भी याद है कि जब भारत का तिरंगा लहरा रहा था.सारा स्टेडियम खड़ा हुआ था, मेरी आँखों से आँसू बह रहे थे. मुझे लग रहा था कि मिल्खा सिंह आज तूने सही मायनों में देश का नाम रोशन किया है. पंडित नेहरू ने मुझसे पूछा था कि मुझे क्या चाहिए, जो चाहे मिलेगा..मुझे कुछ माँगना ही नहीं आया..मैने बस इतना कहा था कि भारत में एक दिन की छुट्टी कर दो. जब मैं भारत लौटा तो सब लोग मेरे स्वागत के लिए खड़े थे. सेना का बैंड भी था. मैं कभी नहीं भूल सकता."

सही नहीं है आलोचना

इस साल राष्ट्रमंडल खेल भारत में हो रहे हैं..जिस तरह की नकारात्मक बातें भारत को सुननी पड़ रही हैं उसे लेकर मिल्खा सिंह बेहद दुखी हैं. वे कहते हैं, "मैं मानता हूँ कि हमसे ग़लती हुई. स्टेडियम और खेल गाँव बहुत पहले तैयार हो जाने चाहिए थे. लेकिन हर बात के लिए आलोचना करना सही नहीं है. ये खेल भाईचारे को बढ़ावा देने के लिए होते हैं. जहाँ तक सुरक्षा की बात है तो म्यूनिख ओलंपिक में भी तो कड़ी सुरक्षा थी लेकिन मेरी आँखों के सामने लोगों को मार दिया. इसलिए ये सब आलोचना सही नहीं है."

मिल्खा सिंह के बाद कोई भी एथलीट राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण नहीं जीत पाया है. जिसका उन्हें बेहद मलाल है. उनका कहना है कि अगर कुछ साल पहले से ही सही ट्रेनिंग शुरू कर दी गई होती तो आज भारत कई गुना ज़्यादा पदक जीत सकता था.

मिल्खा सिंह को एथलेक्टिस छोड़े ज़माना हो गया लेकिन आज भी देश-विदेश में बच्चे बूढ़े सब उन्हें जानते हैं-पहचानते हैं. 'फ्लाइंग सिख' कहकर उन्हें बुलाते हैं जिसका उन्हें बेहद फ़ख़्र है.

मिल्खा सिंह कहते हैं कि 81 बरस की उम्र में आज भी आँखें उस मंज़र के लिए तरस रही हैं कि जब कोई भारतीय एथलीट स्वर्ण पदक जीतेगा और भारत का तिरंगा फिर से लहराएगा.

संबंधित समाचार