बीसीसीआई का फ़ैसला ग़ैरकानूनी: मोदी

  • 11 अक्तूबर 2010
ललित मोदी
Image caption ललित मोदी की ट्विटर पर एक टिप्पणी ने आईपीएल विवाद को जन्म दिया था.

मुंबई में आईपीएल की दो टीमों, राजस्थान रॉयल्स और किंग्स एलेवन पंजाब के साथ क़रार ख़त्म करने के गवर्निंग काउंसिल के फ़ैसले के बाद हर किसी को टीम से जुड़े लोगों की प्रतिक्रियाओं का इंतज़ार था.

सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट ट्विटर की लिखी गई ललित मोदी की एक टिप्पणी ने इस विवाद को जन्म दिया था और ट्विटर पर इस फ़ैसले पर खुलकर लिखने वालों में भी ललित मोदी पहले रहे.

इंडियन प्रीमियर लीग के पूर्व चेयरमैन ललित मोदी ने आईपीएल की दो टीमों को लीग से बाहर करने के फ़ैसले को ग़ैर-क़ानूनी क़रार दिया है.

मोदी ने ट्विटर पर लिखा है, “सभी टीमों का ‘स्टेटस’ एक-सा है. सभी का अनुमोदन किया गया है....ये एक ग़ैर-क़ानूनी कार्रवाई है.”

मोदी ने कहा कि बीसीसीआई के इस फ़ैसले से क्रिकेट का ही नुकसान होगा.

'मैं अंचभित हूं'

मोदी ने आईपीएल की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स पर निशाना साधते हुए ट्विटर पर सवाल उठाया कि उस टीम की ‘ग़ैर-क़ानूनी चीज़ों’ को बीसीसीआई क्यों नज़रअंदाज़ कर रहा है?

मोदी ने ट्विटर पर कहा, “वे उस चीज़ को तबाह करने पर तुले हैं जिस पर भारतीयों को गर्व है.”

मोदी के अलावा किंग्स इलेवन पंजाब के मालिकों में से एक प्रीति ज़िंटा ने भी ट्विटर पर बीसीसीआई के फ़ैसले पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

प्रीति ज़िंटा लिखतीं हैं, “इतनी मेहनत करने के बाद और अपना सबकुछ इस टीम को बनाने में झोंकने के बाद इसकी उम्मीद नहीं थी. मैं अंचभित हूं.”

राजस्थान रॉयल्स में हिस्सेदारी रखने वाली शिल्पा शेट्टी ने ट्विटर पर लिखा है, “ईमानदारी से बताऊं तो मैं हैरान हूं...दुखी हूं..क्योंकि ये हमारे लिए महज़ एक टीम मात्र नहीं है.”

संबंधित समाचार