बांग्लादेशी क्रिकेटरों पर इनामों की बौछार

बांग्लादेश क्रिकेट टीम
Image caption बांग्लादेश की टेस्ट खेलने वाले किसी प्रमुख देश पर ये पहली बड़ी जीत है

भारत में अभी राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेताओं को विभिन्न सरकारें और संगठन सम्मानित कर रहे हैं. साथ ही ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को पस्त करने वाली भारतीय टीम की भी तारीफ़ों के पुल बाँधे जा रहे हैं.

मगर इन बड़े-बड़े प्रदर्शनों के बीच पड़ोसी देश बांग्लादेश के क्रिकेटरों ने न्यूज़ीलैंड को कुछ इस क़दर धोया कि उनके ऊपर अब पुरस्कारों की बौछार हो रही है.

न्यूज़ीलैंड को बांग्लादेश ने चार वनडे मैचों की सिरीज़ में एक में भी जीत हासिल नहीं करने दी.

टेस्ट खेलने वाले किसी प्रमुख देश के विरुद्ध बांग्लादेश की ये पहली ऐसी जीत थी और नतीजा ये कि खिलाड़ियों को राजधानी ढाका में अहम जगहों पर ज़मीनें और कारें बाँटी गईं

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने टीम के सम्मान में आधिकारिक निवास पर एक भोज दिया और 20 सदस्यीय टीम के लिए एक कल्याण कोष भी स्थापित किया.

दो निजी बैंकों ने टीम के सदस्य हर खिलाड़ी को एक लाख टका देने का ऐलान किया. उसके अलावा एक बैंक ने कप्तान शाकिब अल हसन को कार भी भेंट की.

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने तो टीम को इस जीत के बाद 80 लाख टका खिलाड़ियों को बोनस के तौर पर दिया.

देश के खेल मंत्रालय ने खिलाड़ियों के लिए दस लाख टका देने की घोषणा की.

प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने कहा, "देश के लिए ये एक बड़ी उपलब्धि है. मैं इतनी ख़ुश हूँ कि अपनी ख़ुशी का इज़हार भी नहीं कर पा रही."

बांग्लादेश से मिली इस हार के बाद न्यूज़ीलैंड क्रिकेट में भी काफ़ी अफ़रा-तफ़री मची है और कप्तान डैनियल विटोरी और कोच मार्क ग्रेटबैच को क्रिकेट बोर्ड की एक समिति के सामने पेश होना पड़ा है.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है