क्रोनिए को खेलना सबसे मुश्किल: सचिन

सचिन तेंदुलकर
Image caption सचिन ने ब्रिटेन के अख़बार गार्डियन को एक इंटरव्यू में गेंदबाज़ों के बारे में बात की

सचिन को जिस गेंदबाज़ ने सबसे अधिक परेशान किया वो ना तो अपनी गति से आक्रमण करनेवाला कोई तेज़ गेंदबाज़ था ना ही अपनी कलाईयों के जादू से छकानेवाला कोई स्पिनर.

वो गेंदबाज़ था हैंसी क्रोनिए – दक्षिण अफ़्रीका का मीडियम पेसर जिसकी पहचान एक गेंदबाज़ के रूप में नहीं बल्कि मध्यक्रम में बल्लेबाज़ी करनेवाले एक ऐसे क्रिकेटर के रूप में रही है जो मध्यम गति से गेंदबाज़ी भी कर लिया करता था.

तेंदुलकर का कहना है कि हैंसी क्रोनिए ऐसे गेंदबाज़ थे जिनके सामने उन्हें कभी भी पता नहीं चल सका कि उनका सामना वे कैसे करें.

दुनिया के महानतम बल्लेबाज़ों में गिने जानेवाले सचिन ने ब्रिटेन के अख़बार द गार्डियन को एक इंटरव्यू में ये राज़ उजागर किया.

सचिन ने गार्डियन से कहा,"जब भी हम दक्षिण अफ़्रीका के विरूद्ध खेले, एलन डोनल्ड या शॉन पॉलक की तुलना में क्रोनिए ने मुझे सबसे अधिक बार आउट किया.

"ऐसा नहीं था कि मैं उनकी गेंद नहीं खेल पाता था, मगर होता ये कि हर बार गेंद सीधे फ़ील्डर के पास चली जाया करती थी. एक बार डरबन में मैं बहुत अच्छा खेल रहा था, मैंने डोनल्ड और पॉलक की गेंदों पर ख़ूब शॉट लगाए, लेकिन फिर हैन्सी आए, मैंने उनकी पहली गेंद को फ़्लिक किया और गेंद सीधी लेग स्लिप में चली गई. मुझे कभी समझ में नहीं आया कि मैं उनकी गेंदें कैसे खेलूँ."

हैन्सी क्रोनिए

मुख्य रूप से मध्यक्रम के बल्लेबाज़ रहे हैन्सी क्रोनिए ने मध्यम गति की गेंदबाज़ी कर 68 टेस्ट मैचों में 43 और 188 वन डे मैचों में 114 विकेट हासिल किए.

दक्षिण अफ़्रीकी टीम के कप्तान रहे हैंसी क्रोनिए वर्ष 2000 में मैच-फ़िक्सिंग के मामले में बुरी तरह बदनाम हुए.

वर्ष 2002 में एक विमान दुर्घटना में हैंसी क्रोनिए की मृत्यु हो गई.

सबसे तेज़ गेंदबाज़ का नाम पूछे जाने पर सचिन ने इंटरव्यू में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ ग्लेन मैक्ग्रा का नाम लिया.

सबसे बढ़िया स्पिनर के तौर पर सचिन ने ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर शेन वॉर्न का नाम गिनाया जिन्होंने ये कहा था कि सचिन को गेंद डालना एक डरावने स्वप्न के जैसा है.

शेन वॉर्न के बारे में सचिन ने कहा,"स्पिनरों में शेन वॉर्न कहीं-न-कहीं कुछ ख़ास हैं."

संबंधित समाचार