एशियाड डायरी

  • 17 नवंबर 2010
मानचित्र
Image caption चीन के मानचित्र मे कश्मीर चीन का हिस्सा है...

ग्वांग्जो के मुख्य प्रेस सेंटर में चीन और उसके आस-पास के इलाक़ों का एक मानचित्र लगा हुआ है.

उसके सामने से गुज़रते हुए नज़र अनायास ही भारत के हिस्से की ओर गई तो देखा कि उस क्षेत्र में एक सफ़ेद अलग सा हिस्सा बना है.

पास जाकर देखने पर पता चला कि कश्मीर के पूरे हिस्से को सफ़ेद रंग में दिखाया गया था जो कि भारत और पाकिस्तान दोनों से अलग है.

मगर उस कश्मीर को ध्यान से देखिए और भारत में मिलने वाले भारतीय मानचित्र से उसकी तुलना करिए तो देखेंगे कि कश्मीर के ऊपर का दाहिनी ओर का हिस्सा यहाँ चीन के हिस्से के रूप में दिखाया गया है.

यानी अकसाई चिन का हिस्सा चीन ने इस मानचित्र में चीन के हिस्से के रूप में ही दिखाया है.

चीन ने भारतीय कश्मीर के लोगों को पिछले दिनों वीज़ा स्टेपल करके दिया था जिस पर भारतीय सरकार ने आपत्ति भी की है मगर ये मानचित्र भी दिखाता है कि चीन पर कोई फ़र्क नहीं पड़ता और खेलों के दौरान भी उसकी राजनीति की बुनियादी सोच सामने है.

भारतीय समर्थक

खेलों में राजनीति का एक और उदाहरण भारत और जापान की महिलाओं की टीम के हॉकी मैच के दौरान दिखा.

जिन जगहों पर चीन की टीम शामिल नहीं है वहाँ वैसे ही भीड़ ज़्यादा नहीं रहती और इस हॉकी मैच में जो थे भी वे भारत का समर्थन करते नज़र आ रहे थे.

भारतीय टीम जब-जब जापान पर आक्रमण करती भीड़ उत्साहित हो जाती, तालियाँ बजाती और जैसे ही गोल चूक जाते वैसे ही भीड़ से ओह की आवाज़ें आतीं.

मुझे लगा कि भारत के इतने समर्थक चीनी लोग कहाँ से आ गए पर तभी समझ आया कि दरअसल यहाँ भारत के समर्थक नहीं बल्कि जापान के विरोधी लोग बैठे हुए हैं.

जापान और चीन के बीच भी कुछ द्वीपों पर नियंत्रण को लेकर कूटनीतिक स्तर पर तनाव है जिसकी वजह से चीन के लोग जापान का विरोध करने के लिए भारत का समर्थन कर रहे थे.

लोकप्रिय लिन डान

बैडमिंटन के चीनी खिलाड़ी लिन डान काफ़ी लोकप्रिय हैं. चीन से बाहर उनकी ये लोकप्रियता उनके खेल को लेकर और चीन में उनके खेल और ख़ुद उनके व्यक्तित्व की वजह से है.

वह लड़कियों के बीच ख़ासे लोकप्रिय हैं मगर उन्होंने कहा है कि फ़िलहाल शादी करने का उनका कोई इरादा नहीं है.

उनकी गर्लफ़्रेंड 2008 में बीजिंग ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली शिए शिंगफ़ेंग हैं मगर लिन का कहना था कि वह अभी काफ़ी युवा है और शादी करना अभी उनकी प्राथमिकता नहीं है.

उनकी इस घोषणा से स्थानीय लड़कियाँ काफ़ी राहत महसूस कर रही हैं क्योंकि भले ही आज लिन की गर्लफ़्रेंड हो मगर कल का क्या भरोसा.

संबंधित समाचार