एशियाड में पाक का पहला स्वर्ण

पाकिस्तानी टीम
Image caption पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बांग्लादेश को बल्लेबाज़ी करने के लिए बुलाया.

पाकिस्तान ने एशियाड का क्रिकेट का पहला स्वर्ण पदक जीत लिया है. ये ग्वांगजो एशियाड में पाकिस्तान का पहला स्वर्ण भी है.

पाकिस्तानी महिला टीम ने शुक्रवार को खेले गए फ़ाइनल मैच में बांग्लादेश को दस विकेट से रौंदकर ये पदक अपने नाम कर लिया.

स्वर्ण जीतने के लिए टीम की दावेदार शुरू से ही मानी जा रही थी, मगर फ़ाइनल में उसने जिस तरह से बांग्लादेश को रौंदा उससे साबित हो गया कि टूर्नामेंट में कोई भी टीम उसके टक्कर की नहीं थी.

फ़ाइनल में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बांग्लादेश को बल्लेबाज़ी करने के लिए बुलाया.

सधी हुई गेंदबाज़ी

बांग्लादेश की टीम मैच में जम नहीं पाई और 20 ओवर में आठ विकेट के नुक़सान पर सिर्फ़ 92 रन ही बना सकी.

बांग्लादेशी कप्तान सलमा ख़ातून ने सबसे ज़्यादा 24 रन बनाए.

पाकिस्तान की गेंदबाज़ी सधी हुई थी. निदा राशिद ने चार और पाकिस्तानी कप्तान सना मीर ने दो विकेट लिए.

पाकिस्तान के लिए 92 रन कभी भी इतने नहीं थे कि उसे रोका जा सके और उसके सलामी बल्लेबाज़ों ने अकेले दम पर ये स्कोर हासिल कर लिया.

निदा राशिद ने सिर्फ़ गेंद ही नहीं बल्कि बल्ले से भी कमाल दिखाया और 43 गेंदों में सात चौकों की मदद से 51 रन बना दिए.

वहीं जावेरिया वदूद ने 39 रन बनाए. बांग्लादेशी कप्तान सलमा ने सात गेंदबाज़ों का इस्तेमाल किया और कोशिश की कि किसी तरह एक विकेट मिल जाए मगर सारे के सारे नाकाम रहे और चार ओवर बाक़ी रहते पाकिस्तान ने फ़ाइनल जीत लिया.

पुरुष बनाम महिला टीम

जीत के बाद टीम ने मैदान का एक चक्कर भी लगाया.

पाकिस्तान ने सेमीफ़ाइनल में जापान को भी आसानी से हरा दिया था और उसे ग्रुप मैचों में भी कोई टीम नहीं हरा पाई थी. इससे पहले जापान ने चीन को हराकर काँस्य पदक अपने नाम किया था.

पाकिस्तानी महिलाओं ने ये मैच ऐसे समय में जीता है जबकि पुरुष क्रिकेट टीम के कुछ खिलाड़ियों का नाम मैच फ़िक्सिंग मामलों में छाया है.

जीत के बाद जब प्रेस कॉन्फ़्रेंस में सना मीर से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उस मामले में सच और झूठ का अभी कुछ पता नहीं है और वैसे भी महिला टीम की ये जीत अपने आप में बहुत अहम है.

पुरुषों के ग्रुप मुक़ाबले अब 21 तारीख़ से शुरू होंगे.

संबंधित समाचार