चीन में गूंजा भारत का जयकारा

भारतीय दर्शक
Image caption भारतीय दर्शकों ने काफ़ी हो-हल्ला मचाया, नारेबाज़ी की और भारत-माता की जय के नारे भी लगाए.

भारत पाकिस्तान के मैचों की दर्शकों में लोकप्रियता एक बार फिर सामने आई जब आम तौर पर ख़ाली दिखने वाला स्टेडियम भरा नज़र आया.

भारतीय और पाकिस्तानी दर्शक और उनके झंडे हर तरफ नज़र आए. उन्हीं लोगों के बीच खड़े होकर पाकिस्तानी कोच चीख़ रहे थे.

फ़ील्ड और खिलाड़ियों पर पूरी तरह नज़र रख सकें इसलिए वो ऊपर आकर खड़े हुए थे और वहीं से अँग्रेज़ी में बुरी तरह चीख रहे थे.

दूसरी तरफ़ भारतीय दर्शकों ने काफ़ी हो-हल्ला मचाया, नारेबाज़ी की और भारत-माता की जय के नारे भी लगाए.

टीम को भी इस समर्थन का अंदाज़ा था, तभी जीतने के बाद भारतीय टीम उस हिस्से की ओर गई जहाँ भारतीय समर्थक बैठे थे और जाकर उनके समर्थन का शुक्रिया किया.

माँ की सलाह

सानिया मिर्ज़ा के हर मैच में उनकी माँ नसीम मिर्ज़ा बैठी हुई दिख जाती हैं.

सानिया का एकल मैच ऊँची वरीयता वाली थाईलैंड की तमारिन तनासुगर्न से था. मैच के शुरू में सानिया की पहली सर्विस 10 मिनट से ज़्यादा खिंची क्योंकि हर बार स्कोर ड्यूस पर आकर बराबर हो जा रहा था.

Image caption सानिया की माँ स्टैंड में बैठे-बैठे ही ज़ोर से बोलकर सानिया को सलाह दे रहीं थीं कि- ‘वक़्त ले, वक़्त ले.’

वहाँ बैठीं सानिया की माँ स्टैंड में बैठे-बैठे ही ज़ोर से बोलकर सानिया को सलाह दे रहीं थीं कि- ‘वक़्त ले, वक़्त ले.’

उसके बाद सानिया टाइम लेकर आराम से सर्विस डालती थीं. किसी तरह साढ़े दस मिनट में वो पहली सर्विस जीत पाईं.

मगर उसके बाद जो सानिया की गाड़ी आगे बढ़ी तो तनासुगर्न के लिए रोकना मुश्किल हो गया और सानिया ने एकल के सेमीफ़ाइनल में जगह बना ली.

काम का तनाव

पदक विजेताओं के लिए पदक लेकर खड़ी रहने वाली चीनी लड़कियों की यहाँ मीडिया में काफ़ी चर्चा है.

किस तरह वो हमेशा मुस्कुराती दिखती हैं और बेहतरीन ढंग से अपना काम कर रही हैं.

रोइंग में महिलाओं की 1000 मीटर ड्रैगन बोट रेस में टीम के रजत पदक विजेताओं के 12 पदक लेकर खड़ी लड़की बेहोश होकर अचानक गिर गई.

सारे मेडल ज़मीन पर थे और पदक विजेता और अन्य वॉलंटियर उसे उठाने भागे.

उस लड़की के लिए बड़ी शर्मिंदगी की स्थिति बनी मगर उसने बताया कि उसने बहुत सुबह नाश्ता करने के बाद कुछ भी नहीं खाया था और वहाँ धूप में ट्रे लेकर खड़े-खड़े वो चक्कर खाकर गिर गई.

इस घटना के बावजूद उसने एशियाई खेल समाप्त होने तक अपना काम जारी रखने की बात कही है.

संबंधित समाचार