क्रिकेट: अफ़ग़ानिस्तान ने पाकिस्तान को हराया

अफ़ग़ानिस्तान-पाकिस्तान मुकाबला
Image caption अफ़ग़ानिस्तान अब फाइनल मुकाबले में स्वर्ण पदक के लिए बांग्लादेश के ख़िलाफ़ खेलेगा.

अफ़ग़ानिस्तान की क्रिकेट टीम ने एशियाई खेलों के ट्वेंटी-20 मुक़ाबले में पाकिस्तान को हराकर क्रिकेट प्रेमियों में रोमांच भर दिया है.

अफ़ग़ानिस्तान अब फ़ाइनल मुक़ाबले में स्वर्ण पदक के लिए बांग्लादेश के ख़िलाफ़ खेलेगा.

अफ़ग़ानिस्तान के कोच राशिद लतीफ़ ने बताया कि टीम की जीत और सेमिफाइनल में पहुंचने की खुशी में राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने फ़ोन कर टीम को बधाई दी.

राशिद लतीफ़ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल चुके एक पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी हैं.

हालांकि पाकिस्तान ने इस मुकाबले के लिए अपनी टीम के सबसे मज़बूत खिलाड़ियों को नहीं भेजा था फिर भी उम्मीद की जा रही थी कि वो फाइनल तक ज़रूर पहुंचेंगे.

अप्रत्याशित जीत

अफ़ग़ानिस्तान की शुरुआत कुछ कमज़ोर रही लेकिन उसने आठ विकेट के नुक़सान पर 125 रन बनाए. इसमें अफ़ग़ान बल्लेबाज़ शबीर अहमद नूरी ने 35 रन बनाए.

अफ़ग़ानिस्तान के सलामी बल्लेबाज़ क़रीम खान सादेक ने महत्त्वपूर्ण 19 रन बनाए. पाकिस्तान की बल्लेबाज़ी के दौरान 14वें ओवर में दो विकेट लेकर उन्होंने पाकिस्तान के लिए मुश्किलें और बढ़ा दीं.

पाकिस्तान ने शुरुआत में तेज़ी से छह ओवर में 47 रन बनाए लेकिन सलामी बल्लेबाज़ों - शरजील ख़ान और ख़ालिद लतीफ़ के आउट होने के बाद मध्यम क्रम के बल्लेबाज़ कुछ ज़्यादा नहीं कर पाए.

अफ़ग़ान औफ़ स्पिनर करीम ख़ान सादिक़ ने दो विकेट लिए और अफ़ग़ानिस्तान ने पाकिस्तान को दो विकेट के नुक़सान पर 103 रन पर सीमित कर दिया.

'लाखों ने जश्न मनाया'

समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस के अनुसार अफ़ग़ान खिलाड़ी सादेक ने कहा, ''मैं जानता हूं कि मेरे शहर जलालाबाद में पांच लाख लोगों ने पहले ही जश्न मनाना शुरु कर दिया था.''

एशियाई खेलों की क्रिकेट स्पर्धा के ट्वेंटी-20 मुक़ाबले में एशियाई महाद्वीप की तीन दिग्गज टीमों में से एक भी शामिल नहीं है.

भारत ने इस मुक़ाबले के लिए अपनी टीम नहीं भेजी है. इसके अलावा पाकिस्तान और श्रीलंका ने इस स्पर्धा के लिए अपने मज़बूत खिलाड़ी नहीं भेजे.

बांग्लादेश को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल में एक मज़बूत टीम का दर्जा हासिल है, लेकिन क्रिकेट की दुनिया के 10 जाने-माने नामों में अफ़ग़ानिस्तान की टीम की फ़िलहाल कोई जगह नहीं है.

अपनी इस अप्रत्याशित जीत की खुशी में अफ़ग़ानिस्तान की टीम के खिलाड़ियों ने एक दूसरे को गले लगाया और मैदान का चक्कर लगाते हुए झुककर ज़मीन चूमी.

संबंधित समाचार