पचासवाँ शतक पिता को समर्पित है: सचिन

  • 20 दिसंबर 2010

टेस्ट मैच के इतिहास में 50 शतक लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज़ बने सचिन तेंदुलकर ने ये उपलब्धि अपने दिवंगत पिता को समर्पित की है.

सचिन तेंदुलकर 50वां शतक पूरा करने से बहुत खुश थे लेकिन उन्होंने कहा कि 50 तो उनके लिए सिर्फ़ एक नंबर है.

सचिन तेंदुलकर ने कहा, ''मैं यह शतक अपने पिता को समर्पित करता हूं. शनिवार को उनका जन्मदिन था. जहां तक मेरा सवाल है तो मैं रन बनाकर खुश हूं. मैं वास्तव में नहीं जानता कि मैं अपनी भावनाएं कैसे प्रदर्शित करूं.''

तेंदुलकर ने भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन का खेल समाप्त होने के बाद पत्रकारों से कहा कि भारतीय टीम को यह मैच बचाना चाहिए.

तेंदुलकर ने कहा, ''पिछले दो वर्ष से मैं अच्छा खेल रहा हूं. मैं वास्तव में अपनी बल्लेबाजी का आनंद उठा रहा हूं.''

बधाइयाँ

इधर सचिन को उनकी उपलब्धि पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है.

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सचिन तेंदुलकर को बधाई दी.

सोनिया ने कहा कि एक और विश्व रिकार्ड बनाकर उन्होंने भारत को गौरवान्वित किया है.

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने रविवार को टेस्ट क्रिकेट में इतिहास रचते हुए अपने 175वे टेस्ट मैच में 50वां शतक जड़ा है.

वे क्रिकेट के इतिहास में 50 शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं.

टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक रन बनाने के रिकॉर्ड पहले ही उनके नाम है.

दक्षिण अफ़्रीका के सेंचुरियन मैदान में भारत- दक्षिण अफ़्रीका के बीच खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन सचिन तेंदुलकर ने 258 मिनट क्रीज़ पर रह कर 197 गेंदों में 12 चौके और एक छक्का लगाकर ये कीर्तिमान स्थापित किया है.

जब उन्होंने शतक पूरा किया तो पूरे स्टेडियम में मौजूद दर्शकों और खिलाड़ियों ने खड़े होकर उनका अभिनंदन किया.

ये वर्ष 2010 में उनका सातवां शतक है. दक्षिण अफ़्रीका की भूमि पर उनका ये चौथा शतक है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार