हार की कगार पर खड़ी भारतीय टीम

  • 19 दिसंबर 2010

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के 50वां शतक के बावजूद सेंचुरियन टेस्ट में भारत हार की कगार पर खड़ा है.

टेस्ट के चौथे दिन भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ सचिन तेंदुलकर ने लंबी पारी खेली लेकिन वो नाकाफ़ी साबित हुई और भारत के लिए टेस्ट बचाना बेहद मुश्किल नज़र आ रहा है.

चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक भारत ने आठ विकेट के नुक़सान पर 454 रन बनाए लेकिन ये दक्षिण अफ़्रीका की पहली पारी के स्कोर से अब भी 30 रन कम हैं.

भारत के मध्यक्रम के तीन बल्लेबाज़ों- राहुल द्रविड़ (43), वीवीएस लक्ष्मण (आठ) और सुरेश रैना (पांच) के आउट होने के कारण भारत की पारी लड़खड़ा गई.

ऐसे समय में सचिन और धोनी ने पारी को संभाला. तेंदुलकर के नाबाद 107 रन और धोनी के 90 रनों की पारी ने सातवें विकेट के लिए 172 जोड़े.

सचिन ने डेल स्टेन की गेंद पर एक रन लेकर 50वां शतक पूरा किया. उनकी इस उपलब्धि का स्टेडियम में बैठे हज़ारों दर्शकों और खिलाड़ियों ने तालियां बजाकर स्वागत किया.

डेल स्टेन की गेंद ने इस साझेदारी को तोड़ दिया और धोनी को आउट कर दिया.

लेकिन बारिश के कारण चौथे दिन का खेल समय से पहले समाप्त करना पड़ा.

चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक सचिन तेंदुलकर के साथ दूसरे छोर पर श्रीसंत तीन रन बनाकर खेल रहे थे. सोमवार को और बारिश की भविष्यवाणी की गई है.

इसके पहले दक्षिण अफ्रीका ने अपनी पहली पारी 4 विकेट पर 620 रन बनाकर घोषित कर दी थी.

पहली पारी के आधार पर मेजबान टीम ने भारत पर 484 रनों की बढ़त हासिल की थी.

दक्षिण अफ्रीका की ओर से जैक कैलिस ने नाबाद 201 रनों की बेहतरीन पारी खेली. ये उनके करियर का पहला दोहरा शतक है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार