जॉन राइट बने न्यूज़ीलैंड के कोच

  • 20 दिसंबर 2010
जॉन राइट
Image caption जॉन राइट 2000 से 2005 तक भारत के कोच रहे हैं

भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रहे चुके जॉन राइट को न्यूज़ीलैंड टीम का नया कोच बनाया गया है. इस समय न्यूज़ीलैंड की टीम ख़राब प्रदर्शन के दौर से गुज़र रही है.

पिछले दिनों टीम लगातार 11 एक दिवसीय मैच हार चुकी है. पहले बांग्लादेश ने उसे वनडे सिरीज़ में 4-0 से मात दी तो बाद में भारत में उसे 5-0 से रौंद दिया.

न्यूज़ीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने टीम चयन में कप्तान डेनियल वेटोरी की भूमिका को कम किया है. बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जस्टिन वॉन ने कहा कि हाल के दिनों में न्यूज़ीलैंड के प्रदर्शन को स्वीकार नहीं किया जा सकता.

अगले साल फरवरी में विश्व कप होना है और जॉन राइट की कोच के रूप में नियुक्ति काफ़ी अहम मानी जा रही है.

बदलाव

न्यूज़ीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने जो बदलाव किए हैं, उनमें से एक है टीम चयन के लिए एक स्वतंत्र पैनल का गठन. इस पैनल के प्रमुख होंगे मार्क ग्रेटबैच.

इस पैनल में दो पूर्व खिलाड़ियों ग्लेन टर्नर और लांस क्रेंस को भी जगह दी गई है. कोच जॉन राइट और कप्तान डेनियल वेटोरी का चयन प्रक्रिया में कुछ योगदान तो होगा लेकिन कप्तान चयन पैनल का हिस्सा नहीं होगा.

जॉन राइट तत्काल प्रभाव से टीम के कोच की ज़िम्मेदारी शुरू करेंगे. न्यूज़ीलैंड को पाकिस्तान के ख़िलाफ़ घरेलू सिरीज़ में हिस्सा लेना है. ये सिरीज़ 26 दिसंबर को ट्वेन्टी-20 मैच से शुरू हो रही है.

इस सिरीज़ के दौरान दो टेस्ट मैच, छह एक दिवसीय मैच और तीन ट्वेन्टी-20 मैच होंगे.

जॉन राइट भारतीय क्रिकेट में बदलाव के अहम किरदार माने जाते हैं. वे वर्ष 2000 से 2005 तक भारतीय टीम के कोच रहे. उनके कोच रहते ही भारतीय टीम वर्ष 2003 के विश्व कप के फ़ाइनल तक पहुँची थी.

संबंधित समाचार