ऑस्ट्रेलिया पस्त, ऐशेज़ इंग्लैंड के नाम

  • 29 दिसंबर 2010

अब तक क्रिकेट के बादशाह कही जाने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम को उसकी ही धरती पर इंग्लैंड ने ऐशेज़ के तहत मेलबर्न टेस्ट में एक पारी और 157 रनों की करारी हार दी है. इसके साथ ही 24 साल बाद ऐशेज़ का ख़िताब लगातार दूसरी बार अपने नाम करने का करिश्मा इंग्लैंड ने कर दिखाया है.

इंग्लैंड 2-1 से आगे हो गया है. आख़िरी टेस्ट सिडनी में खेला जाना बाक़ी है लेकिन ऐशेज़ पर इंग्लैंड का क़ब्ज़ा हो चुका है.

इंग्लैंड ने मेलबर्न मैच में ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में टिकने ही नहीं दिया, इसके बाद बल्लेबाज़ों ने कमाल दिखाते हुए बड़ा स्कोर खड़ा किया और फिर डेढ़ दिन रहते इंग्लैंड के गेंदबाज़ों ने ऑस्ट्रेलिया को बाहर का रास्ता दिखा दिया. नाबाद 168 रन बनाने वाले इंग्लैंड के जॉनथन ट्रॉट मैन ऑफ़ द मैच चुने गए.

ऐशेज़ में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने के बाद इंग्लैंड के कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस ने कहा, "हम इस समय बहुत उत्साहित हैं. ये एक ख़ास मौका है. ऑस्ट्रेलिया आकर ऐशेज़ का ख़िताब बरकरार रखना...ये लम्हा हमेशा याद रहेगा."

पहली पारी में ही हुई ढेर

Image caption इंग्लैंड की ओर से जॉनथन ट्रॉट ने नाबाद 168 रन बनाए और मैन ऑफ़ द मैच बने

इस मैच में टॉस जीतते हुए इंग्लैंड ने पहले ऑस्ट्रेलिया को बल्लेबाज़ी करने के लिए कहा था. लेकिन पूरी ऑस्ट्रेलियाई टीम 42.5 ओवरों में मात्र 98 रन बनाकर ऑल आउट हो गई थी. इंग्लैंड की ओर से जेम्स एंडरन और क्रिस ट्रेमलेट ने चार-चार विकेट लिए.

पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया के 98 रनों के जवाब में इंग्लैंड ने रनों का अंबार लगा दिया. इंग्लैंड ने पहली पारी में 513 रन बना डाले. कप्तान एंड्रूय स्टॉस (69) और एलिस्टर कुक (82) ने जहाँ टीम को अच्छी शुरुआत दी तो जॉनथन ट्रॉट ने आकर तो ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ों को एकदम विफल साबित कर दिया और शतक जड़ा.

केविन पीटरसन (51) और मैथ्यू प्रायर( 85) ने भी अहम योगदान दिया. जॉनथन ट्रॉट को तो ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज़ अंत तक आउट नही कर पाए. उन्होंने 345 गेंदों में 13 चौकों की मदद से नाबाद 168 रन जड़े. इंग्लैंड की पूरी टीम ने पहली पारी में 513 रन बनाए.

गेंदबाज़ों ने काम किया तमाम

ऑस्ट्रेलिया की टीम के लिए दूसरी पारी में चुनौती कम नहीं थी. लेकिन दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया कसौटी पर खरा नहीं उतर सका. सलामी बल्लेबाज़ शेन वाटसन (54 रन) को छोड़कर ऊपरी और मध्य क्रम का कोई भी खिलाड़ी क्रीज़ पर टिक नहीं सका.

तीसरे दिन का अंत ऑस्ट्रेलिया ने छह विकेट खोकर 169 बनाए थे.चौथे दिन ऑस्ट्रेलिया की ओर से ब्रेड सिडल और ब्रैड हैडिन ने स्थिति संभालने की कोशिश की.

हैडिन ने 50 गेंदों में 40 रन बनाए तो हैडिन अंत तक जुटे रहे और नाबाद 55 रन जोड़े. लेकिन 258 रनों पर ऑस्ट्रेलिया नौ विकेट गंवा चुका था और आख़िरी बल्लेबाज़ हैरिस घायल होने की वजह से खेल नहीं पाए. टिम ब्रेसनन ने चार विकेट लिए.

इस तरह इंग्लैंड ने मेलबर्न मैच एक पारी और 157 रनों से हरा दिया.ब्रिसबेन में पहला ऐशेज़ टेस्ट ड्रॉ रहा था जबकि इंग्लैंड ने दूसरा मैच एक पारी और 71 रनों से जीता था.

तीसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने वापसी करते हुए इंग्लैंड को 267 रनों के बड़े अंतर से हरा दिया था जिसके बाद सिरीज़ 1-1 से बराबर हो गई थी.इसके बाद ऑस्ट्रेलिया को उम्मीद थी कि वो वापसी करते हुए अपनी धरती पर ऐशेज़ जीत पाएगा. पर ऐसा हो न सका. आख़िरी मैच सिडनी में होगा.

अब आख़िरी मैच सिडनी में होगा. पिछली बार ऐशेज़ इंग्लैंड में हुआ था जिसे इंग्लैंड ने 2-1 से जीता था.

संबंधित समाचार