दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ भारत की अहम जीत

  • 30 दिसंबर 2010
भारतीय टीम
Image caption भारत ने डरबन में ज़बर्दस्त जीत दर्ज की है.

भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ ज़बर्दस्त प्रदर्शन करते हुए डरबन टेस्ट में अहम जीत दर्ज की है.

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 87 रनों से हरा दिया है और तीन टेस्ट मैचों की श्रंखला 1-1 से बराबर कर दी है.

डरबन की तेज मानी जानी वाली पिच पर भारतीय गेंदबाज़ों ने ज़बर्दस्त प्रदर्शन करते हुए दोनों ही पारियों में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों को टिकने नहीं दिया.

भारत ने पहली पारी में 205 रन बनाए जिसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम मात्र 131 रन ही बना पाई. दूसरी पारी में भारत ने लक्ष्मण के 96 रनों की बदौलत 228 रन बनाए.

भारत की जीत पर किरण मोरे की राय

दक्षिण अफ्रीका के सामने जीत के लिए दूसरी पारी में 303 रनों का लक्ष्य था लेकिन पूरी टीम मात्र 215 रन पर ही आउट हो गई.

दक्षिण अफ़्रीका की टीम ने बुधवार को जब तीन विकेट पर 111 रनों के स्कोर से आगे खेलना शुरू किया तो उन्हें जीत के लिए 192 रनों की ज़रूरत थी और सात विकेट गिरने बाक़ी थे.

मगर भारतीय गेंदबाज़ों ने पहले टेस्ट मैच के निराशाजनक प्रदर्शन से उबरते हुए दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाज़ी की बखिया उधेड़ दी. सबसे पहले श्रीसंत ने एक बेहतरीन बाउंस करती हुई गेंद डाली जिसे अनुभवी ज्याक़ कालिस समझ नहीं सके और गली में वीरेंदर सहवाग को कैच थमा बैठे.

ये भारत के लिए अहम विकेट था और उसके बाद भारतीय गेंदबाज़ों का हौसला बढ़ गया.

दक्षिण अफ़्रीकी टीम ने अभी 13 रन और जोड़े थे कि एबी डिविलियर्स को अंपायर असद रऊफ़ ने हरभजन सिंह की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट क़रार दिया.

कुछ ही देर में दक्षिण अफ़्रीका की अगली उम्मीद विकेट कीपर बल्लेबाज़ मार्क बाउचर एक विवादास्पद फ़ैसले में ज़हीर ख़ान की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट दे दिए गए. गेंद ऑफ़ स्टम्प से बाहर जाती लग रही थी मगर अंपायर स्टीव डेविस ने उन्हें आउट बताया.

इसके बाद ज़हीर ख़ान ने दूसरा विकेट डेल स्टेन के रूप में लिया जबकि स्लिप में उनका कैच चेतेश्वर पुजारा ने पकड़ा.

ऐश्ले प्रिंस ने पहले पॉल हैरिस और फिर मॉर्ने मॉर्कल के साथ मिलकर हार टालने की भरपूर कोशिश की मगर 215 रनों के स्कोर पर पूरी दक्षिण अफ़्रीकी टीम सिमट गई और भारत को 87 रनों से जीत मिली.

ज़हीर ख़ान ने 57 रन देकर और श्रीसंत ने 45 रन देकर तीन-तीन विकेट लिए जबकि हरभजन सिंह ने 70 रन देकर दो विकेट झटके.

बढ़ा आत्मविश्वास

सेंचुरियन में भारत को बड़ी हार का सामना करना पड़ा था लेकिन डरबन के प्रदर्शन के बाद टीम का आत्मविश्वास ज़रुर बढ़ा होगा.

उल्लेखनीय है कि भारत ने अब तक दक्षिण अफ्रीका में उसके ख़िलाफ 14 मैच खेले हैं जिसमें से यह दूसरी जीत है.

भारत की तरफ से सबसे अच्छा प्रदर्शन रहा बल्लेबाज़ी में लक्ष्मण का जिन्होंने पहली पारी में सर्वाधिक 38 और दूसरी पारी में भी सर्वाधिक 96 रन बनाए.

भारतीय गेंदबाज़ों में ज़हीर खान और हरभजन सिंह ने दोनों पारियों में मिलाकर छह-छह विकेट लिए.

पूरे मैच को देखा जाए तो गेंदबाज़ हावी रहे और दोनों पारियों में दोनों टीमों के सभी विकेट गिर गए.

जहाँ पहली पारी में ज़हीर ने तीन विकेट लिए वहीं हरभजन ने चार विकेट लिए. दूसरी पारी में ज़हीर ने फिर तीन विकेट लिए और हरभजन ने दो विकेट.

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज़ों ने सेंचुरियन में ज़बर्दस्त बल्लेबाज़ी की थी लेकिन डरबन में एक भी बल्लेबाज़ बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पाया चाहे वो हाशिम अमला हों या ज्याक़ कालिस जिन्होंने सेंचुरियन में शतक बनाए थे.

दक्षिण अफ्रीका की तरफ से डेल स्टेन ने दोनों पारियों में मिलाकर आठ विकेट लिए जबकि मार्कल और सोत्सोबे ने पाँच पाँच विकेट लिए.

दोनों टीमों के बीच अब तीसरा टेस्ट होगा जिसमें तय होगा कि शृंखला किसके नाम रहती है.

संबंधित समाचार