क़तर विश्व कप का कार्यक्रम बदलेगा?

क़तर को मेज़बानी

अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल एसोसिएशन फ़ीफ़ा के प्रमुख सेप ब्लैटर को उम्मीद है कि वर्ष 2022 में क़तर में होने वाले विश्व कप का आयोजन जनवरी महीने में होगा.

वैसे तो विश्व कप फ़ुटबॉल जून-जुलाई महीने में होता है, लेकिन क़तर में उस समय के तापमान को देखते हुए माना जा रहा है कि विश्व कप का समय बदल सकता है.

एशिया कप फ़ुटबॉल के उदघाटन के मौक़े पर दोहा में मौजूद ब्लैटर ने कहा, "वैसे तो क़तर का विश्व कप अभी 11 साल दूर है, लेकिन हमें उचित समय पर फ़ैसला करना होगा. इसका मतलब ये है कि विश्व कप का आयोजन जनवरी या फिर वर्ष के अंत में हो सकता है."

पिछले दिसंबर में फ़ीफ़ा ने 2022 के विश्व कप की मेज़बानी क़तर को सौंपी थी.

पैरवी

ब्लैटर का कहना है कि हालाँकि उनकी बोली के लिए जो शर्त थी, उसमें जून-जुलाई में विश्व कप आयोजन की बात थी, लेकिन फ़ीफ़ा की कार्यकारी समिति बोली में किसी भी शर्त को बदल सकती है.

ब्लैटर ने कहा, "जब आप फ़ुटबॉल खेलते हैं, तो आपको इनके मुख्य किरदारों की सुरक्षा करनी पड़ती है और वे हैं- खिलाड़ी."

फ़ीफ़ा का महासचिव जेरोम वाल्के भी 2022 विश्व कप के कार्यक्रमों में फेरबदल के समर्थक हैं. उन्होंने कार्यक्रम में फेरबदल की पैरवी करते हुए कहा था कि इस तरह आप उन देशों में भी विश्व कप का आयोजन करवा सकते हैं, जो जून-जुलाई में कभी ऐसा नहीं कर सकते.

लेकिन फ़ीफ़ा प्रमुख के इस बयान के बाद ये भी सवाल उठ रहे है कि अगर वाक़ई ऐसा हुआ तो यूरोपियन लीग का क्या होगा, जिनके कई मैच उसी दौरान होते हैं और दुनिया के क़रीब-क़रीब सभी स्टार खिलाड़ी इस लीग का हिस्सा होते हैं.

पिछले दो दिसंबर को ज्यूरिख में फ़ीफ़ा की कार्यकारी समिति ने 2022 के विश्व कप की मेज़बानी के लिए क़तर को चुना था. क़तर ने मेज़बानी की दौड़ में ऑस्ट्रेलिया, जापान, दक्षिण कोरिया और जापान को पीछे छोड़ा था.

संबंधित समाचार