गंभीर के लिए सबसे बड़ी बोली

Image caption कोलकाता नाइट राइडर्स ने गौतम गंभीर को 11.04 करोड़ रुपए की बोली लगाकर खरीदा.

इंडियन प्रिमियर लीग के चौथे सीज़न के लिए बंगलौर में नीलामी शुरु हो चुकी है. सबसे बड़ी बोली भारत के सलामी बल्लेबाज़ गौतम गंभीर के लिए लगी है.

कोलकाता नाइट राइडर्स नेगौतम गंभीर को11.04 करोड़ रुपए की बोली लगाकर खरीदा. नीलामी अब भी जारी है और रविवार को इसका आखिरी दिन है.

गंभीर के लिए मुंबई इंडियंस और पुणे वॉरियर्स के बीच कड़ी टक्कर थी. ऐसे में कोलकाता नाइट राइडर्स, राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर ने बोलियां लगाकर नीलामी को और रोमांचक बना दिया. गौतम गंभीर को लेकर आखिरकार नाइट राइडर्स की जीत हुई.

नए फ्रेंचाइज़ी

अब तक नीलाम हुए दूसरे प्रमुख खिलाड़ियों में कोलकाता नाइट राइडर्स ने 9.66 करोड़ की बोली लगाकर यूसुफ़ पठान को, राजस्थान रॉयल्स ने 4.6 करोड़ की बोली लगाकर रॉस टेलर को और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 4.14 करोड़ की बोली लगाकर ज़हीर खान को खरीदा.

इसके अलावाराजस्थान रॉयल्स ने राहुल द्रविड़ को 2.3 करोड़ रुपए में, किंग्स इलेवन पंजाब ने एडम गिलक्रिस्ट को 4.14 करोड़ रुपए में और डेक्कन चार्जर्स ने कुमार संगकारा को 3.22 करोड़ में और मुंबई इंडियंस ने एंड्रयू साइमंड्स को 3.91 करोड़ रुपए में ख़रीद लिया है. हरभजन और साइमंड्स अब एक साथ खेलेंगे.

इस बार के आईपीएल में कुल 10 टीमें हैं और 353 खिलाड़ियों की लिए नीलामी होनी है. पुणे और कोच्चि की टीमें पहली बार शामिल हो रही हैं.

कुल 12 खिलाड़ी ही ऐसे हैं जिन्हें उनकी आईपीएल टीमों ने अपने पास रखने का फ़ैसला किया है.टीम से चार-चार खिलाड़ियों को बरकरार रखा है. राजस्थान रॉयल्स ने शेन वार्न और शेन वाटस्न को अपने पास रखा है और डेल्ही डेयरडेविल्स ने वीरेंदर सहवाग रखने का फैसला किया है.

मुश्किल दौर

2010 आईपीएल के लिए मुश्किलों भरा रहा. इस दौरान भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर उस पर कई दाग़ भी लगे.

इन आरोपों के चलते आईपीएल की स्थापना करने वाले ललित मोदी को इस्तीफ़ा देना पड़ा. इस साल नीलामी की ज़िम्मेदारी रिचर्ड मैडले निभाएंगे.

नीलामी को लेकर मैडले ने कहा, ''इस साल नीलामी का मंज़र कुछ अलग है. हम ललित मोदी के जाने बाद एक नए दौर की शुरुआत कर रहे हैं. मुझे लगता है स्थितियां सभंलेंगी. खिलाड़ियों पर बेहिसाब पैसा बरसने की उम्मीद भी कम है.''

आईपीएल का यह नया दौर कैसा होगा ये तो वक्त बताएगा लेकिन इन दो दिनों के दौरान क्रिकेट जगत की निगाहें भारत पर टिकी रहेंगी.

संबंधित समाचार