दादा को मनाने में लगे किंग ख़ान

शाहरुख़ ख़ान

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की बोली के दौरान कोई ख़रीदार नहीं मिला. पिछले तीन सीज़न में गांगुली जिस टीम का हिस्सा थे, उसने उनमें रुचि नहीं दिखाई.

लेकिन अब कोलकाता नाइट राइडर्स के मालिकों में से एक शाहरुख़ ख़ान ने इस मामले से उठे विवाद को शांत करने की कोशिश करते हुए नई पहल की है.

दक्षिण अफ़्रीका के डरबन में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि उनकी टीम सौरभ गांगुली के बिना अधूरी है.

शाहरुख़ ने कहा, "मैं चाहूँगा कि गांगुली टीम का अभिन्न हिस्सा रहें. भारत लौटने के बाद मैं उनसे बात करूँगा."

वैसे कई हलकों में ये भी चर्चा चल रही थी कि शायद सौरभ गांगुली को कोलकाता नाइट राइडर्स में मैनेजर या उस स्तर का कोई पद मिल जाए.

पेशकश

अब शाहरुख़ ख़ान ने इस पेशकश पर एक तरह मुहर लगाते हुए कहा है कि उन्होंने सौरभ गांगुली से फ़ोन पर बात की है और वे उन्हें किसी अन्य रूप में टीम से जोड़ना चाहते हैं.

Image caption गांगुली को नहीं मिला था कोई ख़रीदार

शाहरुख़ ख़ान ने इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया कि उनकी टीम या फिर बाक़ी टीमों ने सौरभ गांगुली में रुचि क्यों नहीं दिखाई.

शनिवार और रविवार को आईपीएल के लिए हुई ताज़ा नीलामी में पहले दिन सौरभ गांगुली को कोई ख़रीदार ही नहीं मिला, तो दूसरे दिन उनके नाम पर दोबारा बोली ही नहीं लगी क्योंकि टीमों ने जो सूची सौंपी थी, उसमें गांगुली का नाम ही नहीं था.

गांगुली ने ठीक नीलामी से पहले अपनी शुरुआती क़ीमत बढ़ाकर चार लाख डॉलर कर दी थी. गांगुली को कोई ख़रीदार न मिलने का कोलकाता में काफ़ी विरोध हुआ था.

लोगों ने शाहरुख़ ख़ान का पुतला भी जलाया था. अब सौरभ गांगुली इस मामले में क्या रुख़ अपनाते हैं, वो देखने वाली बात होगी.

संबंधित समाचार